class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कटरा में बनेगा विद्युत ग्रिड

विद्युत बोर्ड ने राजधानी के ओवरलोडिंग के शिकार विद्युत ग्रिडों के भार कम करने की कवायद शुरू कर दी है। इसके तहत कटरा(पटना सिटी) में विद्युत ग्रिड का निर्माण किया जाएगा। कटरा में ग्रिड बन जाने से फतुहा ग्रिड का लोड काफी हद तक कम हो जाएगा। साथ ही गायघाट ग्रिड की भी क्षमता बढ़ायी जाएगी। यहां एक पचास एमवीए का ट्रांसफार्मर लगाया जाएगा। फिलहाल यहां पचास व बीस एमवीए का ट्रांसफार्मर है। पचास एमवीए का ट्रांसफार्मर लग जाने से यहां की क्षमता 80 मेगावाट की हो जाएगी।ड्ढr ड्ढr विद्युत बोर्ड के प्रवक्ता एसके घोष ने बताया कि फतुहा ग्रिड पर से लोड कम करने की कवायद के तहत कटरा में ग्रिड निर्माण की योजना बनायी गयी है। यहां पर पचास-पचास एमवीए के दो ट्रांसफार्मर लगाए जाएंगे। कटरा ग्रिड की क्षमता 80 मेगावाट के करीब होने की संभावना है। फिलहाल कटरा व आसपास के इलाकों में फतुहा ग्रिड से ही बिजली की आपूर्ति हो रही है। इससे फतुहा ग्रिड पर लोड बढ़ जाता है। फतुहा में औद्योगिक क्षेत्र रहने के चलते बिजली की अधिक मांग रहती है। कटरा ग्रिड बनने के बाद फतुहा औद्योगिक क्षेत्र में बिजली की निर्बाध आपूर्ति संभव हो सकेगी। श्री घोष के मुताबिक गायघाट ग्रिड में भी एक पचास एमवीए का ट्रांसफार्मर लगेगा ताकि दूसर पचास एमवीए के ट्रांसफार्मर मेंगड़बड़ी होने की स्थिति बिजली की आपूर्ति कम प्रभावित हो। फिलहाल पचास एमवीए के ट्रांसफार्मर के खराब हो जाने की स्थिति में बीस एमवीए के ट्रांसफार्मर पर लोड बढ़ जाता है। नतीजतन लोगों को बिजली की किल्लत झेलनी पड़ती है। उनके अनुसार पुराने ग्रिडों में एक पावर ट्रांसफार्मर के खराब हो जाने पर बिजली की आपूर्ति चरमरा जाती है। उधर मीठापुर ग्रिड को छोड़ अन्य ग्रिडों की भी क्षमता बढ़ाने की भी योजना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कटरा में बनेगा विद्युत ग्रिड