class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मंत्री एनोस नामजद

छोटानागपुरिया तेली उत्थान समाज के प्रदेश अध्यक्ष तिलेश्वर साहू के पिता गजेंद्र साहू की बुधवार को गोली मार हत्या कर दी गयी। घटना सुबह 6:30 बजे जिला मुख्यालय से 0 किमी दूर कामडारा थाना क्षेत्र के जामडीह गांव में हुई। उन्हें तीन गोलियां मारी गयीं, जिनमें से दो उनकी आंख और एक पेट में लगी। इस सनसनीखे मामले में गजेंद्र की पत्नी रुक्िमणी देवी की शिकायत पर राज्य के ग्रामीण विकास मंत्री एनोस एक्का के खिलाफ पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर ली है। साथ ही दीपनारायण सिंह, लक्ष्मण सिंह, देवनाथ बड़ाईक, हरि सिंह, रवि सिंह और जोगेंद्र सिंह को भी आरोपी बनाया गया है। इसबीच, पूर्व मुख्यमंत्री अजरुन मुंडा समेत विपक्ष के कई अन्य नेताओं ने हत्या में नामजद मंत्री एनोस एक्का के इस्तीफे की मांग की है। मुख्यमंत्री मधु कोड़ा ने इस पर प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया। उधर, कांग्रेस अध्यक्ष प्रदीप बलमुचू ने कहा कि मंत्री पर लगे आरोप की जांच होनी चाहिए, सिर्फ आरोप लगने पर इस्तीफा मांगना उचित नहीं है। उधर, तिलेश्वर की मां रुक्िमणी वारदात के वक्त वहीं पर मौजूद थीं। आरोपियों ने आरसीसी नामक एक संगठन बना रखा है। घटना के विरोध में तेली उत्थान समाज ने गुरुवार को झारखंड बंद का एलान किया है। जानकारी के अनुसार, गजेंद्र बुधवार को जामडीह में अपनी बेटी के घर सुबह छह बजे पहुंचे। यहां से करीब में कदमडीह में उनका पुश्तैनी घर है। पिछले कुछ महीनों से वे यहीं रह रहे थे। गजेंद्र मवेशियों को चारा डाल रहे थे, तभी दो बाइक पर सवार पांच हमलावर आये और गजेंद्र पर गोली चला दी, जो उनकी आंख के पास लगी। फिर उन्होंने गजेंद्र को पकड़ उन पर दो और गोली दागी, उनकी घटनास्थल पर ही मौत हो गयी। बताया जाता है कि हत्या के बाद हमलावरों ने मोबाइल पर किसी से बात की और फिर नारबाजी करते हुए भाग गये। जानकारी मिलने पर गुमला के प्रभारी एसपी प्रवीण श्रीवास्तव, एसडीपीओ अलबन तिग्गा और डीएसपी दीपक सिन्हा सहित पुलिस के आला अफसर घटनास्थल पर पहुंचे और मुआयना किया। किसी को क्या मिलेगा एक बुजुर्ग को मारकर रांची। झारखंड के ग्रामीण विकास और परिवहन मंत्री एनोस एक्का ने कहा है कि गजेंद्र साहू की हत्या में नाम उछाल उनकी छवि धूमिल की जा रही है। उन्होंने कहा कि एक बुजुर्ग को मारकर किसी को क्या मिलेगा। एनोस एक्का ने आरोप लगाया कि तिलेश्वर साहू जानबूझकर मामले में उनका नाम घसीट रहे हैं और मामले की जांच किसी भी एजेंसी से करायी जा सकती है। तिलेश्वर पर निशाना साधते हुए मंत्री ने कहा कि जिस इंसान पर खुद दर्जनों मुकदमे दर्ज हैं, वही दूसर की छवि को दागदार बता रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मंत्री एनोस नामजद