class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मप्र में हवलदारों के हाथ में होगी रिवाल्वर

मध्य प्रदेश पुलिस में डंडा थामने वाले हवलदारों के हाथ में जल्दी ही रिवाल्वर नजर आएगी। गृह विभाग हवलदारों को रिवाल्वर देने का फैसला कर चुका है और जल्दी ही इसकी शुरुआत होने वाली है। राज्य में अभी तक उप निरीक्षक और उससे ऊपर के अफसरों को रिवाल्वर तथा पिस्तौल रखने का अधिकार है। हवलदारों को विशेष परिस्थितियों में राइफल लेकर तैनात किया जाता है। हालात जब कभी बिगड़ते हैं तो राइफल को चलाने और उसका उपयोग करने में हवलदारों को दिक्कत का सामना करना पडता है। इसका नतीजा यह होता है कि असामाजिक तत्वों पर आसानी से नियंत्रण स्थापित नहीं किया जा पाता। पुलिस मुख्यालय से मिली जानकारी कि मुताबिक ‘मध्य प्रदेश पुलिस रेग्युलेशन एक्ट’ में संशोधन के जरिए हवलदारों को रिवाल्वर देने का प्रावधान किया गया है। पहले चरण में रिवाल्वर शहरी इलाकों में तैनात हवलदारों को दी जाएगी। पुलिस महानिदेशक एआर पवार ने बताया कि सुरक्षा बल के आधुनिकीकरण का दौर चल रहा है, उसी क्रम में हवलदारों को राइफल के स्थान पर रिवाल्वर देने की तैयारी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मप्र में हवलदारों के हाथ में होगी रिवाल्वर