class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अशोक स्तंभसे सत्यमेव जयते गायब

अशोक स्तंभ में सत्यमेव जयते के बगैर राष्ट्रीय चिह्न् बिल्कुल अधूरा है। भारत सरकार के गृह मंत्रालय द्वारा जारी किये गए पत्र से जहां इसकी पुष्टि होती है वहीं इसका सख्ती से पालन करने का भी निर्देश दिया गया है। डीएम कक्ष, अन्य सरकारी कार्यालयों से लेकर मुहरों तक में राष्ट्रीय चिह्न् के नीचे सत्यमेव जयते का प्रयोग नहीं किए जाने से चौंकाने वाले तथ्य उभर कर सामने आये। भारत सरकार के गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों के गृह विभाग को इस आशय से संबंधित पत्र भेजा, जिसे मुख्य सचिव व आयुक्त के जरिए संबंधित जिलों को भेजे गए।ड्ढr ड्ढr मंत्रालय ने पत्र में यह उल्लेख किया है कि विभिन्न सरकारी एजेंसियां जो अपनी लेखन सामग्री, प्रकाशनों, मुहरों, वाहनों व भवनों आदि पर भारत के राष्ट्रीय संप्रतीक चिह्न् का प्रयोग कर रही हैं वहां प्राय: सत्यमेव जयते आदर्श वाक्य छोड़ दिए जा रहे हैं और सिंह स्तंभ शीर्ष के पाश्र्व (नीचे) चित्र के प्रयोग किए जा रहे हैं। मंत्रालय ने अशोक स्तंभ के नीचे सत्यमेव जयते के बगैर राष्ट्रीय चिह्न् के प्रयोग को अधूरा बताया है। इसे इंडिया की राष्ट्रीय संप्रतीक अर्थात सरकारी मुहर का दर्जा प्राप्त है। भोजपुर जिलाधिकारी के कार्यालय कक्ष में लगे बोर्ड, वीर कुंवर सिंह स्मारक पार्क के द्वार, सैनिक कल्याण बोर्ड के मुख्यद्वार, समाहरणालय के पुराने बोर्ड व मुहर से भी सत्यमेव जयते गायब पाए गए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अशोक स्तंभसे सत्यमेव जयते गायब