class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

देश की आंतरिक सुरक्षा में गिरावट : आडवाणी

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी ने केंद्र की कांग्रेस नीत संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) को सभी मोर्चे पर विफल बताते हुए कहा है कि इस सरकार के कार्यकाल में आतंरिक सुरक्षा और विदेश संबंध दोनों में गिरावट आई है। आडवाणी ने रविवार को एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि इस सरकार के कार्यकाल में देश में आंतरिक सुरक्षा की स्थिति बद से बदतर हो गई है और विदेश संबंध भी लगातार बिगड़ते जा रहे हैं। जनता मंहगाई से त्रस्त है और वामपंथी मंहगाई समेत विभिन्न मुद्दों पर केन्द्र का विरोध का नौटंकी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि देश की बिगड़ती आर्थिक स्थिति के लिए कांग्रेस और वामपंथी दोनों को जिम्मेवार ठहराया जाना चाहिए। पार्टी की आेर से प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार आडवाणी ने आरोप लगाया कि सरकार वोट बैंक के खातिर धार्मिक आधार पर आरक्षण का प्रस्ताव कर संविधान की मूल भावना से भटक गई है। संविधान सभा का स्पष्ट मत था कि देश में धार्मिक आधार पर कोई आरक्षण नहीं होना चाहिए। उनका यह भी आरोप था कि देश में सभी परियोजनाएं और संस्थान एक ही परिवार के नाम से ही है। उन्होंने कहा कि संसद में पांच परियोजनाएं घोषित हुईं और वे सभी केवल पंडित नेहरु, इंदिरा गांधी और राजीव गांधी के नाम से है। कोई भी परियोजना या संस्थान डॉ. अंबेडकर, सरदार पटेल या किसी अन्य महापुरुष के नाम पर नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: देश की आंतरिक सुरक्षा में गिरावट : आडवाणी