class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शूटर को छोड़ने के लिए बिहार से था दबाव

झारखंड-बिहार में आतंक मचाने वाले अमित कुमार सिंह को छोड़ने के लिए रांची पुलिस पर भारी दबाव था। बिहार से राजनीतिक दलों के कई बड़े नेता यहां पुलिस अधिकारियों को फोन कर रहे थे। अमित पटना के मरांची थाना क्षेत्र के रामपुर डुमरा गांव का रहने वाला है। उसे बिहार के नागा सिंह गिरोह का मेन शूटर माना जाता है। हाल के कुछ महीनों से उसने रांची में पनाह ले रखी थी। अमित पर हत्या के कई मामले दर्ज हैं। सुपारी लेकर हत्या करना उसका शगल है।ड्ढr ड्ढr पटना के बैकटपुर की रहने वाली एक युवती के साथ दो मई को वह रांची के पहाड़ी मंदिर में शादी करने वाला था। शादी से पहले ही वह धर-दबोचा गया। अमित के बार में पुलिस को गुप्त फोन आया था। थाना में लाकर जब उससे पूछताछ की गयी, तब वह अपना नाम बदल पहचान छुपाने की कोशिश कर रहा था। लेकिन जब अमित सिंह के रूप में उसकी शिनाख्त हुई तो पुलिस अधिकारियों की बांछें खिल गयीं। गिरफ्तारी की सूचना पर बिहार के पुलिस अधिकारी भी हैरत में आ गये। मगर थोड़ी देर बाद ही पुलिस अधिकारियों के फोन घनघनाने लगे। अमित को छोड़ने के लिए दबाव पड़ रहा था। राजनेता सहित कई लोग पुलिस को फोन कर रहे थे। थानेदार को 10 लाख तक की पेशकश की गयी, लेकिन थानेदार ने उसे ठुकरा दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: शूटर को छोड़ने के लिए बिहार से था दबाव