class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इस बार आम लोगों को भी मिलेगा आम

लों का राजा आम इस वर्ष विदेशी बाजारों पर भी राज करगा। बंपर पैदावार की संभावना और अमेरिका द्वारा भारत से आम के आयात पर लगे प्रतिबंध को हटा लेने के कारण यह संभावना और बढ़ गई है। इस तरह की आशा के कारण हैं। देश में आम की कुल पैदावार का 60 प्रतिशत उत्तर प्रदेश में ही होता है और इस साल अभी तक साढ़े चार लाख मीट्रिक टन पैदावार का अनुमान लगाया जा रहा है। वैज्ञानिकों की मानें तो बिहार में भी इस वर्ष रिकॉर्ड पैदावार होगी। यह अगर सच साबित हुआ तो राज्य में लगभग 15 लाख टन आम के पैदावार की संभावना है जो गत वर्ष से लगभग 20 प्रतिशत अधिक होगा। राज्य में आम की अच्छी पैदावार दस टन प्रति हेक्टेयर मानी जाती है और इस वर्ष लगभग डेढ़ लाख हेक्टेयर में आम की खेती की गई है। उधर, मालदा में इस साल 2,50,000 टन पैदावार की उम्मीद की जा रही है। उत्तर प्रदेश में पैदा होने वाले दशहरी, लंगड़ा, चौसा, सफेदा आमों ने विदेश में भी लखनऊ का नाम ऊँचा किया है। यूपी में 17 फल पट्टी क्षेत्र हैँ। इनमें से सबसे अच्छी मलिहाबाद पट्टी क्षेत्र है। वैसे, पिछले साल सिर्फ लखनऊ में ही पांच लाख मीट्रिक टन आम की पैदावार हुई थी। अन्तर्राष्ट्रीय व्यापार में प्रदेश की हिस्सेदारी 0.25 प्रतिशत से भी कम है अंौर 0.1 प्रतिशत से भी कम आम निर्यात होता है। यह विषय अलग है कि निर्यात क्यों नहीं बढ़ रहा? निर्यात की दृष्टि से बिहार में भी अच्छी हालत नजर नहीं आती। यूं तो बिहार सरकार एयर कार्गो और टर्मिनल मार्केट के निर्माण में जुटी है लेकिन निर्यात के लिए इन्फ्रास्ट्रक्चर विकसित होने में अभी थोड़ा विलंब है। लेकिन दूसर राज्यों के थोक विक्रताओं की नजर भी इस वर्ष बिहार के आम बाजार पर गड़ी हुई है। कृषि वैज्ञानिकों के अनुसार हर एक वर्ष के बाद आम उत्पादन अधिक होता है और इस वर्ष अधिक उत्पादन की बारी है। अनुकूल मौसम ने इस वर्ष लोगों की आस और बढ़ा दी है। दीघा के सफेद मालदह के अलावा भागलपुर के जर्दालु आम की मांग भी दूसर प्रदेशों और अरबियन देशों में काफी है। अगर उत्पादन आशा के अनुसार हुआ तो ये दोनों वेरायटी देश-विदेश के बाजारों में महाराष्ट्र के अल्फांसो और दक्षिण भारत के बैगन पल्ली को भी पीछे छोड़ देगें। अमेरिका के वासियों की जिह्वा पर भी इसका स्वाद चढ़ा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: इस बार आम लोगों को भी मिलेगा आम