class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कैंसर का एकमात्र कारण स्मोकिंग : विशेषज्ञ

कई कैंसर का एकमात्र कारण स्मोकिंग है। हालांकि हर आदमी को इसकी जानकारी है। इसके बावजूद लोग इसे छोड़ते नहीं। ये बातें पद्मश्री डा. गोपाल प्रसाद सिन्हा ने प्योर एयर इटरप्राक्षेज एवं एस.एल.ए इक्िपमेंट प्राइवेट लिमिटेड द्वारा आयोजित एक सेमिनार में कहीं। उन्होंने कहा कि स्मोकिंग से दस गुना लंग्स कैंसर होने की आशंका बढ़ जाती है। उन्होंने कहा कि वाहनों से भी वायु प्रदूषण बढ़ता जा रहा है। हालांकि इसे कंट्रोल करना आसान नहीं है लेकिन अगर लोग इससे बचना चाहते हैं तो कई उपाय कर सकते हैं। नेत्र रोग विशेषज्ञ डा. कैप्टन मंगतू राम ने कहा कि वायु प्रदूषण से आंखों में कई बीमारियां होती हैं। खासकर छोटे बच्चों में आंख संबंधित रोग की आशंका बढ़ जाती है। यदि प्रदूषण से बचाव नहीं किया गया तो धीर-धीर आंखों की रोशनी भी कम हो सकती है।ड्ढr ड्ढr डा. आर.के. मोदी ने बताया कि डब्ल्यूएचओ के अनुसार विश्व में 30 करोड़, भारत में 5 करोड़ एवं बिहार में 50 लाख लोग दमा से पीड़ित हैं। इस बीमारी की कोई उम्र सीमा नहीं होती। आज स्थिति यह है कि इतना सब कुछ करने के बावजूद दमा का प्रकोप बढ़ रहा है और इसका एक मात्र कारण वायु प्रदूषण है।ड्ढr उन्होंने बताया कि वायु प्रदूषण केवल घर के बाहर ही नहीं बल्कि घर के अंदर भी हो सकता है। घर में जितना कम सामान रखा जाए वायु प्रदूषण उतना कम होगा। स्विडिस लाइट के अमित रांन ने कहा कि अब आप अपने घरों में शुद्ध हवा का सेवन कर सकते हैं। ‘द लाइट एयर ऑयन फ्लो 50’ 25 वर्षो के शोध के बाद बनाया गया है जिसे प्योर एयर इंटरप्राक्षेज द्वारा बिहार एवं झारखंड में उतारा गया है। यह मशीन इंटरनेशनल डिााइन एक्िसलेंस अवार्ड 2007 एनर्जी स्टार अवार्ड और ऑक्सीजन अवार्ड का विजेता रह चुका है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कैंसर का एकमात्र कारण स्मोकिंग : विशेषज्ञ