class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महान तबला वादक पंडित किशन महाराज का निधन

विख्यात तबला वादक पंडित किशन महाराज का रविवार रात निधन हो गया।वह 85 वर्ष के थे। उनके परिवार में दो पुत्रियां, एक पुत्र एवं पत्नी है। किशन महाराज को गत मंगलवार को पक्षाघात के बाद एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। पक्षाघात से उनके शरीर का दाहिना हिस्सा प्रभावित हुआ था। पारिवारिक सूत्रों के अनुसार किशन महाराज ने रविवार रात करीब एक बजे आखिरी सांस ली। उनके पार्थिव शरीर को आम जनता के दर्शनार्थ कबीरचौरा स्थित निवास पर रखा गया है। किशन महाराज को वर्ष 2002 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था। इसके अलावा उन्हें वर्ष 1में पद्मश्री, वर्ष 1में केंद्रीय संगीत नाटक पुरस्कार, वर्ष 1में अली खान पुरस्कार और वर्ष 2001 में लता मंगेश्कर पुरस्कार भी प्रदान किया गया। किशन महाराज का जन्म 1में पारंपरिक रूप से एक संगीतज्ञ के परिवार में हुआ। उन्होंने अपने प्रारंभिक वषर्ों में पिता पंडित हरि महाराज से शास्त्रीय संगीत की शिक्षा प्राप्त की। पिता के देहांत के बाद उनके चाचा एवं पंडित बलदेव सहाय के शिष्य पंडित कंठे महाराज ने उनकी शिक्षा का कार्यभार संभाला। उन्होंने एडिनबर्ग और वर्ष 1में ब्रिटेन में कामनवेल्थ कला समारोह के साथ ही कई अवसरों पर अपने कार्यक्रम प्रस्तुत कर नाम प्रतिष्ठिता अर्जित की। उनके शिष्यों में वर्तमान समय के जानेमाने तबला वादक पंडित कुमार बोस, पंडित बालकृष्ण अय्यर, उसंदीप दास, सुखविंदर सिंह नामधारी सहित अन्य नाम शामिल हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: महान तबला वादक किशन महाराज का निधन