class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कचचोइराला कचचो देंगे सम्मानित पद

नेपाल में नई सरकार का नेतृत्व करने के लिए प्रतिबद्ध माओवादियों ने कहा है कि वह वरिष्ठ राजनेता और प्रधानमंत्री गिरिाा प्रसाद कोइराला को सम्मानित पद देंगे। लेकिन इस बार में कुछ भी साफ नहीं किया है। नेपाल चुनाव में यद्यपि माओवादी सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभर हैं लेकिन उन्हें सरकार गठन के लिए अन्य राजनीतिक दलों के समर्थन की जरूरत है। माना जा रहा है कि माओवादियों का ताजा रुख कोइराला को ‘पैकेा’ के जरिये सरकार गठन की अड़चनों को दूर करने का प्रयास है। कांतिपुर ऑनलाइन ने डॉ. बाबूराम भट्टाराई के हवाले से कहा, ‘देश की राजनीति में कोइराला की पिछली भूमिका को ध्यान में रखते हुए हमारा ऐसा मानना है कि देश का नया संविधान लिखे जाने तक उनकी भूमिका खत्म नहीं होगी।’ इस सवाल पर कि क्या कोइराला को राष्ट्रपति पद दिया जा सकता है, भट्टाराई ने कहा कि अगर ऐसा हुआ तो सरकार में शक्ित के दो केन्द्र बन जाएंगे, जिससे और अधिक दुविधा की स्थिति पैदा हो जाएगी। उन्होंने कहा, ‘हम कोइराला को सरकार में कोई न कोई सम्मानित पद दिए जाने के हक मे हैं।’ यह पद कुछ इस तरह का हो सकता है, जिसके जरिए वह अपने नैतिक और राजनीतिक अधिकार का प्रयोग कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि सभी राजनीतिक दल मिलकर एक ऐसी व्यवस्था तैयार कर सकते हैं, जो समय-समय पर सरकार को नीतिगत सलाह देती रहे। कोइराला को इसका मुखिया बनाया जा सकता है। उन्होंने कहा, ‘हम सभी विकल्पों पर विचार कर रहे हैं, लेकिन किसी भी हालत में सत्ता के दो केन्द्र नहीं हेाने चाहिए।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कचचोइराला कचचो देंगे सम्मानित पद