class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरदारा कप्तान, परगट मैनेजर

प्तान तुषार खांडेकर, सीनियर गोलकीपर बलजीत सिंह और समीर बाखला। ये वे नाम हैं जिन्हें इपोह, मलयेशिया में होना चाहिए। इन सभी को अजलान शाह कप हॉकी में भारतीय टीम का हिस्सा बनना था। इनके साथ सलाहकार जोकिम कारवाल्हो को भी वहां होना चाहिए था। भारतीय हॉकी महासंघ की बर्खास्तगी के बाद गठित की गई सेलेक्शन कमेटी का कुछ ऐसा ही फैसला था। इन चारों को ऑस्ट्रेलिया से सीधे मलेशिया पहुंचना था लेकिन ये सभी भारत आ गए। कहा तो यहां तक गया कि तीनों खिलाड़ियों को कोच कारवाल्हो अपने साथ ले आए। सेलेक्शन कमेटी के चेयरमैन असलम शेर खान ने कहा, इन लड़कों को ऑस्ट्रेलिया में टीम के मैनेजर रहे आर.के. शेट्टी ने ठीक से सूचना नहीं दी। लगता है इनके साथ कोई साजिश हुई है। अब टीम की कप्तानी कौन करगा? क्या इन तीनों को वहां फिर से भेजे जाने की तैयारी है, पूछने पर असलम ने बताया, ‘नहीं अभी इन तीनों को हम वहां नहीं भेज रहे हैं। हमारी कोच ए.के. बंसल से बात हुई थी। उन्होंने भी यही कहा कि अब हमार पास जो खिलाड़ी हैं हम उन्हीं के साथ खेलेंगे। हां, कोच ने यह जरूर कहा कि तुषार और समीर होते तो हमारी फॉरवर्ड लाइन जरूर थोड़ी और मजबूत हुई होती। तुषार की जगह सरदारा सिंह कप्तान और शेट्टी की जगह परगट सिंह मैनेजर होंगे।’ असलम ने कहा, वैसे भी हमारा असली काम तो अजलान शाह कप के बाद शुरू होगा। इसलिए हमने भी इन लड़कों को वहां भेजने पर ज्यादा जोर नहीं दिया। टीम को अजलान शाह कप में कल पहले मैच न्यूजीलैंड से खेलना है। टीम में अधिकतर खिलाड़ी जूनियर हैं। बीजिंग ओलंपिक के लिए क्वालिफाई नहीं करने के बाद दो चरण के चार देशों के टूर्नामेंट में भी हमारी टीम फिसड्डी रही थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सरदारा कप्तान, परगट मैनेजर