class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खुली अमेरिका की नींद, मंडेला नहीं हैं आतंकी

सन 1में नेल्सन मंडेला के दक्षिण अफ्रीका के पहले लोकतांत्रिक राष्ट्रपति चुने जाने के 14 वर्षो बाद अब जाकर अमेरिकी कांग्रेस की प्रतिनिधि सभा ने एक विधेयक पास किया है जिसके तहत मंडेला का नाम आतंकवादियों की सूची से बाहर निकाला जाएगा। गुरुवार को सर्वसम्मति से इस विधेयक के पारित होने के बाद अफ्रीकी नेशनल कांग्रेस (एएनसी) और उसके नेताओं का नाम अमेरिका के सभी डेटाबेस से आतंकवादियों की सूची से हटा दिया जाएगा। प्रतिनिधि सभा की विदेशी मामलों की समिति के प्रमुख और डेमोक्रेट नेता हार्वड बर्मन ने कहा कि इस बहुप्रतीक्षित विधेयक के बाद एक लंबी और असहज कर देने वाली कहानी का पटाक्षेप हो गया है। हमेशा रंगभेद के पीड़ितों का समर्थन करने के बाद भी हम देश के आव्रजन संबंधी उन कानूनों में अपेक्षित परिवर्तन नहीं कर पाए, जिसकी वजह से दक्षिण अफ्रीका के कई रंगभेद विरोधी नेताओं का नाम आतंकवादियों की सूची में शामिल था। गौरतलब है कि सन 10 में दक्षिण अफ्रीका की नस्लीय श्वेत सरकार ने एएनसी पर प्रतिबंध लगा दिया था। उसके बाद ही अमेरिका ने एएनसी के सदस्यों के अमेरिका प्रवेश पर रोक लगा दी थी। सन 10 में रंगभेद की समाप्ति के बाद एएनसी के सत्ता में आने के साथ ही वहां लोकतंत्र की बहाली हुई। बर्मन ने कहा कि आश्चर्य की बात है कि जहां एक ओर दक्षिण अफ्रीका में अनेक राजनीतिक बदलाव हुए वहीं एएनसी नेताओं के अमेरिका प्रवेश पर वैसी ही रोक लगी रही।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: खुली अमेरिका की नींद, मंडेला नहीं हैं आतंकी