class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चली दादा की दादागिरी, जीती जंग

बंगाल के दादा सौरभ गांगुली की दादागिरी आखिर हैदराबाद पर भारी पड़ गई। गांगुली ने अपने रंग में लौटते हुए रन की तूफानी पारी खेलकर कोलकाता को रविवार को यहां आईपीएल 20-20 क्रिकेट टूर्नामेंट में हैदराबाद पर 23 रन से जीत दिला दी। ‘मैन आफ द मैच’ गांगुली ने मात्र 57 गेंदों में 11 चौकों और पांच छक्कों की मदद से धुआंधार रन ठोके। जिसकी बदौलत कोलकाता ने चार विकेट पर 204 रन का मजबूत स्कोर खड़ा कर दिया। गांगुली ने उसके बाद गेंदबाजी में भी अपने जौहर दिखाते हुए 25 रन देकर दो विकेट झटके। हैदराबाद की टीम इस विशाल स्कोर कें जवाब में सात विकेट पर 181 रन ही बना सकी। अपने कप्तान के जबर्दस्त प्रदर्शन की बदौलत कोलकाता ने टूर्नामेंट में अपनी चौथी जीत हासिल कर ली। कोलकाता अब सेमीफाइनल की होड़ में शामिल हो गया है। कोलकाता टीम के आठ मैचों में चौथी जीत के बाद आठ अंक हो गए हैं। हैदराबाद को नौ मैचों में सातवीं हार का सामना करना पड़ा। उसकी सेमीफाइनल में पहुंचने की उसकी उम्मीदें अब लगभग खत्म हो चुकी हैं। गांगुली के साथ ऑस्ट्रेलिया के डेविड हसी (नॉटआउट 57) ने भी धुआंधार अर्धशतक ठोका। गांगुली और हसी के बीच तीसरे विकेट के लिए मात्र आठ ओवर में 102 रन की साझेदारी हुई। गांगुली ने जहां 11 चौकेऔर पांच छक्के ठोके वहीं हसी ने 2गेंदों पर अपने अर्धशतक में चार चौके और तीन छक्के लगाए। हालांकि कोलकाता की शुरुआत अच्छी नहीं रही। टीम में अंदर बाहर हो रहे पाकिस्तान के बल्लेबाज सलमान बट्ट एक बार फिर असफल रहे। वह महज चार रन बनाकर चामिंडा वास की गेंद पर पैवेलियन लौट गए। कोलकाता का पहला विकेट चार रन के स्कोर पर गिरा। कप्तान गांगुली का खुद को तीसरे नंबर पर लाने का दांव सफल रहा। उन्होंने आकाश चोपड़ा (24) के साथ 6रन की साझेदारी कर डाली। लेकिन जब टीम का स्कोर 73 था तभी चोपड़ा हर्शल गिब्स के शानदार थ्रो पर आउट हो गए। चोपड़ा ने अपने 23 गेंदों की पारी में तीन चौकों की मदद से 23 रन बनाए। इसके बाद गांगुली और हसी ने मेजबान टीम के सभी गेंदबाजों की जमकर धुनाई की। खासतौर पर गांगुली ने। गांगुली ने तेज गेंदबाज रुद्र प्रताप सिंह को भी जमकर निशाना बनाया। गांगुली दुर्भाग्यशाली रहे कि वह नौ रन से शतक से चूक गए। लेकिन उन्होंने इस टूर्नामेंट का अपना सर्वश्रेष्ठ स्कोर बना दिया। उनका विकेट 175 रन के स्कोर पर गिरा। इसके बाद तातेंदा ताइबू (हसी का साथ निभाने आए। लेकिन वह ज्यादा देर तक नहीं टिक सके और आरपी सिंह ने उन्हें आउट कर दिया। लक्ष्मी रत्न शुक्ला (14) ने आरपी सिंह के महज तीन गेंदों में दो चौकों की मदद से 14 रन बनाए। शुक्ला ने आरपी की एक गेंद पर दो रन लिए। इसके बाद आरपी ने गेंद को विकेट की तरफ थ्रो कर दिया। लेकिन गेंद सीधे सीमा रेखा के बाहर चली गई और इस तरह इस गेंद पर शुक्ला को छह रन मिले। हैदराबाद की तरफ से आरपी सबसे मंहगे साबित हुए। उन्होंने अपने चार ओवर में 5रन लुटाए।ड्ढr हैदराबाद की उम्मीदें अपने कार्यवाहक कप्तान एडम गिलक्रिस्ट और दक्षिण अफ्रीका के हर्शल गिब्स पर टिकी हुई थीं। लेकिन बंगाल के अशोक डिंडा ने शुरुआती स्पेल में शानदार गेंदबाजी कर उसे झकझोर दिया। डिंडा ने पहले गिब्स (5) को आउट किया। फिर गिलक्रिस्ट (24) को गांगुली के हाथों लपकवाया। गिलक्रिस्ट ने अपनी संक्षिप्त पारी में पांच चौके लगाए। उमर गुल ने रवि तेजा (10) को अपना शिकार बनाया। गांगुली ने स्काट स्टायरिस (5) को आउट कर हैदराबाद का स्कोर चार विकेट पर 63 रन कर दिया। डिंडा ने एक छोर पर जमकर खेल रहे रोहित शर्मा (33) को गांगुली के हाथों कैच कराया। रोहित ने अपनी पारी में तीन चौके और दो छक्के लगाए। हैदराबाद के पांच विकेट रन पर गिर चुके थे। लेकिन इसके बाद वेणुगोपाल राव ने एकतरफा संघर्ष करते हुए मात्र 42 गेंदों में चार चौकों और छह जबर्दस्त छक्कों की मदद से नॉटआउट 71 रन ठोके। मगर वह अपनी टीम को जीत की मंजिल तक नहीं ले जा पाए। गांगुली इस मैच में अपने रन, दो विकेट और दो कैच के साथ मैन आफ द मैच के सही हकदार बने।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: चली दादा की दादागिरी, जीती जंग