class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘मुंह खोलूंगा तो तूफान मच जाएगा’

भारतीय नृत्य कला मंदिर में आयोजित नवीन सिन्हा प्रतिभा सम्मान समारोह में लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण मंत्री अश्विनी कुमार चौबे प्रदेश पार्टी नेतृत्व पर जमकर बरसे। श्री चौबे ने इशार ही इशारों में प्रदेश नेतृत्व को काफी खरी -खोटी सुनाई। यही नहीं स्वास्थ्य मंत्री नंदकिशोर यादव ने भी अप्रत्यक्ष रूप से प्रदेश नेतृत्व के खिलाफ अपनी भड़ास निकाली। श्री यादव ने कहा कि नवीन जी के निधन से वे काफी दु:खी हैं लेकिन उनकी मौत कैसे हुई उसके बार में अगर वे मुंह खोलेंगे तो तूफान मच जाएगा। मंत्री अश्विनी चौबे ने नवीन किशोर सिन्हा के व्यक्ितत्व की चर्चा करते हुए कहा कि नवीन जी प्रतिभा संपन्न व्यक्ित थे, वे मंत्री क्या मुख्यमंत्री भी बन सकते थे। लेकिन आजकल राजनीति में प्रतिभा संपन्न व्यक्ित की कोई पूछ नहीं होती है।ड्ढr ड्ढr राजनीति में धर्मनीति का पालन भी नहीं होता है। लोग प्रतिभा को राजनीति से बाहर निकाल देते हैं। वे भी आज की राजनीति से पीड़ित हैं। उन्होंने आपातकाल का जिक्र करते हुए कहा कि जेपी आंदोलन कांग्रस के निरंकुश शासन के खिलाफ था और उस निरंकुश शासन को उखाड़ फेंका गया। अगर आज भी राजनीति या परिवार में तानाशाह आ जाए तो उसे उखाड़ फेंकना चाहिए, चाहे वह तानाशाह अश्विनी चौबे ही क्यों न हो। श्री चौबे ने कहा कि नगर विकास मंत्री बनने के बाद नवीन जी एक बार कुछ कार्यकर्ताओं के साथ उनसे मिलने आए थे और वे बंद कमर में फूटकर रोने लगे। उनके साथ वे भी रोये। राजनीति में ऐसी घिनौनी हरकत नहीं होनी चाहिए। श्री चौबे ने कहा कि मुंबई अधिवेशन में स्व. नवीन जी ने उनसे कहा था -‘ बाबा वे अब मुझे पार्टी से निकाल देंगे ।’ लेकिन वे तो दुनिया से ही निकाल दिए गए। हालांकि स्वास्थ्य मंत्री नंदकिशोर यादव ने काफी नपे-तुले शब्दों में ही नेतृत्व पर अपना निशाना साधा। श्री यादव ने कहा कि नवीन जी पहले हमार नेता थे और बाद में हम उनके नेता बने फिर भी उनकी-हमारी दोस्ती बरकरार रही। मंत्री बनने के बाद भी वे उनके साथ घंटों बातचीत करते रहते थे। कार्यक्रम में उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी आमंत्रित नहीं थे जबकि पटना मध्य के विधायक अरुण कुमार सिन्हा दर्शकदीघा में ही बैठे रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ‘मुंह खोलूंगा तो तूफान मच जाएगा’