class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पटना बनेगा महानगर

दिल्ली, कोलकाता, मुम्बई और मद्रास की तर्ज पर पटना को मेट्रोपोलिटन शहर बनाया जाएगा। इसके पहले चरण में राज्य सरकार पटना मेट्रोपोलिटन प्लानिंग कमेटी का गठन करगी। यह कमेटी प्लानिंग तैयार करगी। मेट्रो पटना की आबादी 23 लाख से ज्यादा होगी और इसका क्षेत्रफल एक हाार किलोमीटर होगा। अभी पटना का क्षेत्रफल सौ वर्ग कि.मी. है। मेट्रो पटना में फुलवारीशरीफ, खगौल, दानापुर, हाजीपुर, मनेर, सोनपुर और फतुहा को भी शामिल किया जाएगा। इसके एक तरफ सोनपुर होगा तो दूसरी तरफ फतुहा और दक्षिण में इसकी सीमा बिहटा को छूएगी। इसके लिए सोमवार को नगर विकास मंत्री भोला सिंह की अध्यक्षता में बैठक हुई। बैठक के बाद संवाददाता सम्मेलन में मंत्री सिंह ने कहा कि मेट्रोपोलिटन प्लानिंग कमेटी मेट्रो पटना के लिए प्लानिंग और उसके कार्यान्वयन की व्यवस्था करगी। इसके पदेन अध्यक्ष नगर विकास मंत्री होंगे।ड्ढr ड्ढr पटना नगर निगम के महापौर व उपमहापौर के अलावा फुलवारीशरीफ, खगौल, दानापुर, हाजीपुर, मनेर, सोनपुर और फतुहा नगर परिषद तथा नगर पंचायतों के प्रमुख व उप प्रमुख को भी इसका सदस्य बनाया जाएगा। मेट्रो पटना में शामिल होने वाले आठ नगर निकायों के एक निर्वाचित प्रतिनिधि को इसका उपाध्यक्ष चुना जाएगा। नगर विकास विभाग के प्रधान सचिव कमेटी के सचिव होंगे। योजना विभाग के सचिव, पटना नगर निगम के नगर आयुक्त और वित्त सचिव भी इसके सदस्य होंगे। नगर योजना बनाने को चार विशेषज्ञों को इसका सदस्य मनोनीत किया जाएगा। पत्रकारों को भी इसमें जगह दी जाएगी। आठ नगर निकायों के कार्यपालक अधिकारी आमंत्रित सदस्य होंगे। सिंह ने बताया कि कमिटी का गठन संविधान की धारा 243 (ख) के तहत किया गया है। इस कमिटी का अपना बजट होगा। कमेटी की नियमावली को मंत्रिपरिषद की मंजूरी के लिए भेजा जाएगा और इस पर महाधिवक्ता को भरोसे में लिया जाएगा। संवाददाता सम्मेलन में विभाग की प्रधान सचिव एस. जलजा भी मौजूद थीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पटना बनेगा महानगर