class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बागानों से शाही लीची बाजारों में

सोमवार से जिले के कई बागानों में व्यापारियों ने लीची तोड़ना शुरू कर दिया है। इसे बक्से में बंद कर सीधे रलवे स्टेशन भेजा जा रहा है। मुजफ्फरपुर जंक्शन से सोमवार को व्यवसायियों ने लीची की पहली खेप अमृतसर के लिए जननायक एक्सप्रेस से भेजी। लेकिन जेपीपीओ मुकेश कुमार ने अपरिपक्व अवस्था में किसी भी हाल में किसानो-व्यापारियों से लीची न तोड़ने की अपील की है।ड्ढr ड्ढr भगवानपुर चौक के आगे फतेहपुर गांव के मसीही कैम्पस में सबसे पहले आज लीची टूटी। लीची तोड़वा रहे व्यापारी गरीबनाथ ने बताया कि आज से लीची लखनऊ व दिल्ली भेजी जाएगी। लेकिन, व्यापारियों ने अबतक अच्छी वर्षा न होने से फलों में गुद्दा नं आने की बात भी कही। उधर जेपीपीओ मुकेश कुमार के मुताबिक अपरिपक्व लीची को स्वास्थ्य के लिए हानिकारक और इसे बाहर भेजने से मुजफ्फरपुर व शाही लीची की बदनामी की बात कही। उन्होंने बताया कि शाही लीची तोड़ने का उचित समय मई का अंतिम सप्ताह या 21 मई के बाद शुरू होता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बागानों से शाही लीची बाजारों में