class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बसपा की रैली लोकतंत्र का मखौल : सपा

ड्ढr समाावादी पार्टी ने बहुान समाा पार्टी की ओर से ‘भारत छोड़ो दिवस’ के मौके पर नौ अगस्त को लखनऊ में राानीतिक रैली करने को लोकतंत्र का मखौल करार दिया है। बसपा प्रमुख मायावती ने ने नौ अगस्त को रमाबाई अम्बेडकर मैदान में राष्ट्रीय अधिवेशन आयोित करने की घोषणा की है। सपा के कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने शुक्रवार को यहाँ प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि देश की आाादी की लड़ाई लड़ने वालों ने भारत में लोकतंत्र की बहाली के लिए नौ अगस्त को अंग्रेाों भारत छोड़ो का नारा दिया था। मायावती उस दिन राानीतिक रैली करंगीोबकि उनका लोकतांत्रिक मूल्यों से कोई वास्ता ही नहीं।ड्ढr श्री यादव ने कहा कि दिल्ली की राानीति में फेल होने के बाद मायावती को अब लोकतंत्र की याद आई है। भाापा को धोखेबाा बता रहीं। यानी भाापा से बसपा की मिलीभगत है। उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार को सपा बाहर से समर्थन देगी। सीटों के गठबंधन के मसले पर पार्टी का राष्ट्रीय नेतृत्व ही बात करगा। उन्होंने कहा कि सपा के नेताओं-कार्यकर्ताओं पर बीते सवा साल में फर्ाी मुकदमों की भरमार हो गई। विधायकों तक को बख्शा नहींोा रहा। एसी परम्पराएँ डाल कर मायावती ने अपने लिए मुश्किल खड़ी कर ली है। उन्हें भी भुगतना पड़ेगा। सपा केोिन सांसदों को वे गुण्डा-माफिया बता रही थीं उन्हें ही अपने पाले में किया। एसे लोगों को वे ही चुनाव लड़वाएँ। सपा अपराधियों को प्रत्याशी नहीं बनाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बसपा की रैली लोकतंत्र का मखौल : सपा