class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नहीं लगाने देंगे ताला : छात्राएं

झारखंड छात्र मोरचा एवं एनएसयूआइ ने 26 जुलाई को रांची वीमेंस कॉलेज में तालाबंदी करने की घोषणा की है। इधर कॉलेज की छात्राओं ने इस घोषणा का विरोध किया है। कॉलेज छात्र संघ की मनीषा मेहता ने कहा कि कॉलेज में बाहरी युवकों को घुसने नहीं दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि छात्र संघ ने बैठक कर प्राचार्या को धमकी दिये जाने पर चिंता जतायी है। कुछ असामाजिक तत्व, जो अपने को छात्र संगठन का सदस्य बताते हैं, ने कॉलेज में जबरदस्ती घुस कर प्राचार्या को अपमानित किया। यह निंदनीय है। एसे लोग छात्र नहीं हो सकते। कॉलेज में घुसनेवाले युवकों का इरादा नेक नहीं था। एसे लोगों के कारण कॉलेज और छात्राओं की सुरक्षा खतर में है।ड्ढr लगाया आरोपड्ढr झारखंड छात्र मोरचा एवं एनएसयूआइ का आरोप है कि कॉलेज की प्राचार्या ने उनके साथ ठीक बर्ताव नहीं किया। इसके विरोध में उन्होंने वीसी को भी ज्ञापन सौंपा है। तालाबंदी की घोषणा करनेवालों में तालकेश्वर महतो, त्रिभुवन शाही, मिंटू चौबे, कुमार राजा, शहबाज अहमद, विजय तिवारी, मनीष कुमार आदि शामिल हैं।ड्ढr आंदोलन से अलगड्ढr झारखंड विकास छात्र मोरचा एवं झारखंड छात्र संघ ने कुछ संगठनों द्वारा वीमेंस कॉलेज में तालाबंदी किये जाने के कार्यक्रम से अलग रहने का निर्णय लिया है। मोरचा के केंद्रीय महामंत्री रणजीत कुमार शर्मा ने कहा है कि मिंटू चौबे उनके संगठन के सदस्य नहीं हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नहीं लगाने देंगे ताला : छात्राएं