class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाकिस्तान आयात सूची बढ़ाएगा

तमाम राजनीतिक उथल-पुथल के बावजूद पाकिस्तान की आर्थिक परिस्थितियां उसे भारत के प्रति मेहरबानी दिखाने के लिए मजबूर कर रही हैं। इसके चलते उसने जल्द ही अपने यहां लगभग 136 नये भारतीय उत्पादों का आयात खोलने का फैसला किया है। अभी तक पाक ने अपने यहां सिर्फ 1802 उत्पादों के आयात की ही अनुमति दे रखी है। इससे संबंधित अधिसूचना पाक सरकार ने जल्द जारी करने का संकेत भारत सरकार को दिया है। यही नहीं, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पेट्रोल और डीाल की बढ़ती कीमतों के चलते पाक सरकार भी अब अपने यहां सीएनजी आधारित सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था लागू करने की दिशा में सोचने का मजबूर हुई है। इस सिलसिले में उसे भारत की याद आई है। पाक सरकार चाहती है कि भारत बस बनाने वाली बड़ी ऑटो कंपनियां भारत से ऐसी बसों का निर्यात करने के बजाय पाकिस्तान में ही मैन्युफैक्चरिंग प्लांट लगायें। भारत सरकार ने इस मामले में देश की बड़ी ऑटो कंपनियों को सूचित किया है। इससे दोनों को ही फायदा है। जहां एक ओर भारतीय कंपनियों को पाक के बाजार के साथ ही अब सार्क सदस्य के रूप में अफगानिस्तान और अन्य देशों के बाजार मिलेंगे, वहीं पाक सरकार को सस्ती सीएनजी बसों के साथ ही रोगार के नये अवसर उपलब्ध होंगे। फिलहाल पाक ने कहा है कि भारतीय बस निर्माता कंपनियां अपनी 10-10 बसों को पाक में बगैर शुल्क के ला सकती हैं। पाक की सड़कों में इनके प्रदर्शन और तकनीकी गुणवत्ता मानकों की जांच के बाद ही संबंधित कंपनियों को प्लांट लगाने की हरी झंडी मिल सकेगी। इस पूर काम में पाक और ऑटो कंपनियों के बीच वाणिज्य मंत्रालय मध्यस्थ की भूमिका का निर्वाह करगा।ड्ढr वाणिज्य मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक पाक भारत से मुख्य रूप से ऐसी वस्तुओं का आयात सीधे करना चाहता है जो दुबई अथवा अन्य तीसर देशों के जरिए पाक पहुंच रही हैं। भारतीय उत्पादों के तीसर देशों के जरिए पाक पहुंचने से वहां के बाजार में ये महंगी हो जाती हैं। इनके सीधे आयात से पाक बाजार में वह सस्ती होंगी।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पाकिस्तान आयात सूची बढ़ाएगा