class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हीथ न होते तो बीजिंग नहीं जा पाता

शुक्रवार को दिल्ली में बीजिंग जाने वाले खिलाड़ियों के लिए आयोजित समारोह के बाद मुक्केबाज अखिल सीधा शिरडी के लिए रवाना हो गए। किसी भी अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट में हिस्सा लेने से पहले वह शिरडी जाना नहीं भूलते। कल इस समारोह के दौरान वे थोड़ा निराश थे। उनकी यह निराशा थी विश्व के जाने-माने फिािकल ट्रेनर हीथ मैथ्यू के बॉक्िसंग टीम के साथ न होने के चलते। भारतीय ओलंपिक संघ ने कल तक हीथ मैथ्यू का नाम क्लीयर नहीं किया था। आज साईंबाबा के दरबार में पहुंचने से पहले ही अखिल को यह खुशखबरी मिल गई कि उनके फिािकल ट्रेनर का नाम आईओए ने क्लीयर कर दिया है। उनकी निराशा खुशी में बदल गई। शिरडी से फोन पर उन्होंने बताया, ‘साईंबाबा में मुझे एक खुशी तो दे दी है। अब बाबा का आशीर्वाद रहा तो मैं बीजिंग से मैडल जीत कर ही लौटूंगा।’ निशानेबाजी के बाद इस बार बॉक्िसंग से भी देशवासियों को ओलंपिक पदक की उम्मीद है। हीथ पटियाला में चल रहे कैम्प में बॉक्िसंग टीम के साथ हैं। अखिल को कलाई की चोट से पूरी तरह से फिट करने में हीथ ने काफी मेहनत की है। जर्मनी में लगभग दो महीने तक उन्होंने अखिल की देखभाल की।ड्ढr अखिल ने कहा, ‘हीथ न होते तो शायद मैं ओलंपिक में हिस्सा भी नहीं ले पाता। मुझे फिट करने में हीथ ने काफी मेहनत की है। मुझे पूरा विश्वास है कि हीथ की उपस्थिति से न केवल मुझे बल्कि पूरी बॉक्िसंग टीम को लाभ होगा।’ड्ढr अखिल लगभग एक साल से कलाई की चोट से परशान थे। इतना ही नहीं ओलंपिक के लिए क्वालिफाई करने के बाद से उन्होंने किसी भी टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं लिया था।ड्ढr भारतीय मुक्केबाजी फेडरशन के महासचिव पी.के. मुरलीधरन राजा ने भी हीथ के बॉक्िसंग टीम के साथ जुड़ने पर खुशी जताई। सुबह लगभग 11 बजे राजा का इस संवाददाता के पास फोन आया। उन्होंने ही बताया कि हीथ को बॉक्िसंग दल में शामिल कर लिया गया है। इसके लिए मैं आईओए के साथ-साथ मीडिया का भी धन्यवाद करता हूं। मीडिया ने यदि पहल नहीं की होती तो शायद इस विश्व स्तरीय फिािकल ट्रेनर का बीजिंग जाने मुश्किल था।ड्ढr अखिल ने फरवरी में बैंकॉक में आयोजित दूसर एशियाई ओलंपिक क्वालिफाई टूर्नामेंट में ओलंपिक के लिए क्वालिफाई किया था। इस टूर्नामेंट में अखिल न केवल बेस्ट बॉक्सर रहे थे बल्कि उन्होंने एथेंस ओलंपिक के रात विजेता थाईलैंड के वोरोपोज पेचकूम को भी शिकस्त दी थी।ड्ढr भारत के पांच मुक्केबाज अखिल (54 किलो), विजेन्दर (75 किलो), ए.एल. लाकरा (57 किलो), दिनेश कुमार (81 किलो) और जितेन्दर (51 किलो) ने ओलंपिक के लिए क्वालिफाई किया है। बॉक्िसंग टीम 2 अगस्त को बीजिंग के लिए रवाना होगी।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: हीथ न होते तो बीजिंग नहीं जा पाता