class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिक्रमगंज में कूपन वितरण में हंगामा

ाराकाट के सिकरियां गांव में शनिवार को राशन-किरासन कूपन वितरण करने गए कर्मचारियों को ग्रामीणों ने खदेड़ दिया। ग्रामीणों के विरोध के कारण कूपन वितरित नहीं हो सका तथा कर्मचारी डर के मार भाग खड़े हुए। प्राप्त जानकारी के अनुसार पंचायत सेवक विक्रमा प्रसाद, पर्यवेक्षक एवं स्थानीय जनप्रतिनिधि के साथ कूपन वितरण करने हेतु सिकरियां पहुंचे। सूची में क्रमवद्ध एक तिहाई नाम सुनते ही ग्रामीण भड़क उठे तथा सामुहिक रुप से कर्मचारियों व प्रतिनिधियों को खदेड़ने लगें। ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए कर्मचारी भाग खड़े हुए। कर्मचारियों को ग्रामीण गांव के बहुत दूर तक खदेड़ते रहें।ड्ढr ड्ढr बगल के गावं में शरण ले कर्मचारियों ने किसी तरह अपनी जान बचाई। ग्रामीणों के उत्तेजित व आक्रोशित होने का मुख्य कारण बीपीएल एवं एपीएल सूची में भारी गड़बड़ी होना बताया जाता है। ग्रामीणों के अनुसार सूची में गरीबों की जगह अमीरों का नाम जोड़ा गया है। इस संबंध में बीडीओ ने बताया कि पुर मामले की जांच की जाएगी तथा दोषियों के विरुद्ध उचित कार्रवाई की जाएगी। मोहीउद्दीननगर (समस्तीपुर) से संवाद सूत्र के अनुसार रासतपुर पतसिया पूरब पंचायत में शनिवार को कूपन वितरण सूची में अपना नाम नहीं देख लोग भड़क गए। कूपन बांट रहे एमओ उपेन्द्र मालाकार से कूपन एवं रािस्टर लेकर फाड़ डाला। होमगार्ड के जवान स्थिति देख दुबक गए। एमओ ने बताया कि असामाजिक तत्वों ने उनके साथ अभद्र व्यवहार किया तथा रािस्टर को फाड़ डाला। बचे सब कूपन लेकर भाग निकले। इस बावत मुखिया तथा एमओ थाना पहुंचकर कई लोगों का नाम दर्ज कराया है। जॉबकार्ड से वंचित हैं दलित परिवारड्ढr सौर बाजार (सहरसा) (सं.सू.)। चन्दौर पूर्वी पंचायत के बेलहा मुसहरी टोला में दर्जनों मजदूरों को अब तक जॉब कार्ड उपलब्ध नहीं कराया गया है। यहां छोटे सदा, त्रिफुल देवी, ंरिंकु सदा जसे दर्जनों दलित परिवार हैं जिन्हें अब तक जॉब कार्ड नहीं मिला है। अमला देवी बताती हैं कि मुखिया के यहां दौड़-दौड़ कर थक चुकी हूं। त्रिफुला देवी कहती हैं कि काम नहीं मिलने के कारण हमारा आदमी पंजाब गया है। पारो देवी (1वर्ष) बताती हैं कि काम करना चाहते हैं, परन्तु काम नहीं मिलता। पप्पू सादा, रविन्द्र सदा एक माह पूर्व पंजाब चला गया है। राजाराम सदा, कुलदीप सदा, राजदीप सदा, विनोद सदा, प्रमोद सदा, जयकृष्ण सदा को जॉब कार्ड नहीं मिला है। इस कारण वह एक माह पूर्व पंजाब चला गया। विनोद सदा की पत्नी रांो देवी कहती हैं कि काम मिलेगा तो करुंगी। कार्यक्रम पदाधिकारी ने बताया कि जॉब उपलब्ध कराने के लिए पीआरएस और संबंधित मुखिया को कार्ड उपलब्ध करा दिया गया। यही स्थिति बैजनाथपुर गोदाम के मुस्लिम टोला की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बिक्रमगंज में कूपन वितरण में हंगामा