class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

परमाणु करार को मंजूरी दी आईएईए ने

अंतर्राष्ट्रीय परमाणु उर्जा एजेंसी की आेर से भारत केन्द्रित परमाणु निगरानी समझौते को शुक्रवार को सर्वसम्मति से अपनी मंजूरी मिलने के साथ ही भारत-अमेरिका असैन्य परमाणु सहयोग समझौते का पहला एवं एक महत्वपूर्ण चरण संपन्न हो गया। आईएईए के संचालक मंडल की आज अहम बैठक में हिस्सा ले रहे राजनयिकों ने बैठक के बाद अपनी प्रतिक्रिया में समझौते को मंजूरी दिए जाने की जानकारी दी। इससे पहले बैठक में आईएईए के अध्यक्ष मोहम्मद अलबरदेई ने परमाणु ऊर्जा के क्षेत्र में अंतर्राष्ट्रीय सहयोग हासिल करने के भारत के पक्ष को आगे बढ़ाते हुए कहा कि भारत केन्द्रित परमाणु निगरानी उपाय अंतर्राष्ट्रीय मानकों के अनुरूप हैं तथा इससे भारत की ऊर्जा आवश्यकताएं पूरी हो सकेंगी। अलबरदेई ने यह भी कहा कि नए निगरानी उपायों वाले अतिरिक्त समझौते के बारे में भारत ने बातचीत शुरू कर दी है। बैठक के बाद आईएईए में ब्रिटेन के राजदूत सिमोन स्मिथ ने कहा कि यह करार ऊर्जा जरूरत और पर्यावरण सुरक्षा की दिशा में काफी मददगार साबित होगा। अपनी प्रतिक्रिया में स्मिथ ने यह समझौता न सिर्फ अमरीका और भारत के लिए बल्कि उर्जा जरूरतें पूरी करने के लिए संघर्षरत अन्य देशों के लिए भी प्रेरक साबित होगा। इस बीच प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भी भारत केन्द्रित निगरानी समझौते को सर्वसम्मति से मंजूरी दिए जाने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि आज का दिन भारत और देश के असैन्य परमाणु कार्यक्रम के लिए बहुत महत्वपूर्ण दिन साबित हुआ है। दक्षेस शिखर वार्ता में भाग लेने कोलम्बो गए डा. सिंह ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि भारत अब परमाणु ऊर्जा के क्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपने मित्र देशों का सहयोग हासिल कर सकेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: परमाणु करार को मंजूरी दी आईएईए ने