class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छात्र संगठनों को पुलिस की हिदायत : दायर में रह करंे आंदोलन

छात्रों की हड़ताल से आम लोगों को तकलीफ न हो, इसके लिए पुलिसिया पहल शुरू हुई। रविवार को पटना पुलिस ने पटना विवि के विभिन्न छात्र संगठनों को बुलाकर हिदायत दी कि उनका आंदोलन दायरे के भीतर होना चाहिए अन्यथा पुलिस को कड़ी कार्रवाई करने के लिए बाध्य होना पड़ेगा। टाउन डीएसपी संजय कुमार सिंह की अध्यक्षता में हुई बैठक में छात्र संगठनों द्वारा तैयार की जा रही जेपी आंदोलन तर्ज पर व्यापक छात्र आंदोलन की रूप-रखा को जानने का प्रयास किया गया। कर्मचारियों की 58 दिनों से जारी हड़ताल से उत्पन्न स्थिति से परशान छात्र संघों ने सोमवार से व्यापक आंदोलन की तैयारी की है। प्रशासन इस आंदोलन को लेकर चिंतित है।ड्ढr ड्ढr टाउन डीएसपी को छात्र संघों ने बताया कि आप क्लास शुरू करा दें, कार्यालय खुलवा दें। हम अपना आंदोलन स्थगित कर देंगे। साथ ही छात्रों ने कहा कि कर्मचारियों पर बल प्रयोग नहीं होना चाहिए क्योंकि वे भी हमार परिवार का हिस्सा हैं। इसके बाद डीएसपी ने रािस्ट्रार डा. विभाष कुमार यादव व प्रॉक्टर डा. रासबिहारी सिंह से क्लास शुरू कराने के लिए उचित संसाधन के बार में पूछा तो उन्होंने कहा कि इसके लिए प्रशासन का सहयोग जरूरी है। डीएसपी ने कहा कि छात्र शांतिपूर्ण आंदोलन करं लेकिन रोड जाम व सरकारी या निजी संपत्ति को हानि न पहुंचाएं।ड्ढr ड्ढr बैठक के बाद छात्र नेताओं ने पुलिस द्वारा छात्रों को बुलाने की पहल पर प्रसन्नता व्यक्त की लेकिन कैंपस में पुलिसिया हस्तक्षेप का कड़ा विरोध किया। पीरबहोर थाना प्रभारी एसए हाशमी भी इस मौके पर मौजूद थे। वार्ता के दौरान कई बार छात्र नेताओं व पुलिस पदाधिकारी के बीच कहा-सुनी हुई। बैठक में एनएसयूआई की तरफ से वरुण शर्मा व दीपक प्रकाश सिंह, छात्र राजद के अवधेश कुमार लालू, छात्र राकांपा के मो. तनवीर अहमद, आइसा के मरकडेय पाठक, राहुल विकास, गौतम व अंसार आलम, छात्र जदयू के तहसीन राा व विश्वजीत, एआईएसएफ के विश्वजीत, एवीबीपी के वीरंद्र कुमार आदि शामिल हुए। सबने एक सुर में शैक्षणिक सत्र शुरू न होने तक आंदोलन जारी रखने से प्रशासन को अवगत कराया।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: छात्र संगठनों को पुलिस की हिदायत : दायर में रह करंे आंदोलन