class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डीलरों की हड़ताल से नीतीश नाराज

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राशन दुकानदारों की हड़ताल पर कड़ी नाराजगी जतायी है। सोमवार को जनता दरबार के बाद संवाददाताओं से बात करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि जिसे देखिए हड़ताल की ही पड़ी है। कोई यह नहीं सोचता कि हड़ताल से कौन प्रभावित हो रहा है? राज्य सरकार गरीबों की खाद्यान्न सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कृतसंकल्प है। जिलाधिकारियों को सीधी जिम्मेदारी दी गयी है कि हड़ताल की वजह से लोगों को चावल, गेहूं व किरासन मिलने में कोई परशानी न हो पाए।ड्ढr ड्ढr मध्याह्न् भोजन योजना का अनाज सरकार खुद ही स्कूलों तक पहुंचाएगी। नीतीश ने कहा कि राशन दुकानदारों की आय बढ़ाने के लिए कई उपायों पर विचार हो रहा है। उनका कमीशन भी बढ़ा दिया गया है। जविप्रको सुधारने के लिए अब कूपन प्रणाली लागू की जा रही है। इससे अनाज और किरासन की कालाबाजारी पर रोक लग जायेगी। यही वजह है कि कुछ लोग तरह-तरह की अड़चन डालकर कूपनों का वितरण रोकना चाहते हैं। डीएम और एसडीओ हड़ताल से उत्पन्न स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। अनाज का उठाव और वितरण नहीं करने वाले दुकानदारों के लाइसेंस रद्द किये जायेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: डीलरों की हड़ताल से नीतीश नाराज