class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

किफायती युवा ट्रेनों में जुड़ सकते हैं एसी-3 कोच

किफायती युवा ट्रेनों में जुड़ सकते हैं एसी-3 कोच

आर्थिक रूप से किफायती युवा ट्रेन सेवा की आय बढ़ाने के मकसद से उसमें अतिरिक्त एसी-3 डिब्बे जोड़े जा सकते हैं। भारतीय रेल द्वारा ऐसी दो युवा ट्रेनों का परिचालन किया जा रहा है जिसमें एसी चेयर सुविधा है। इन ट्रेनों का परिचालन कोलकाता और मुंबई से दिल्ली के बीच किया जा रहा है।

रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि ऐसी दो ट्रेन दो महत्वपूर्ण मार्गों पर चल रही हैं जिन पर पूरे साल भारी मांग होती है, लेकिन इसकी आय उम्मीद के मुताबिक नहीं रही है। भारत में प्रतिदिन करीब 10,500 ट्रेनें चलती हैं और मौजूदा वित्त वर्ष में भारतीय रेल को यात्री किराए से होने वाला घाटा 25 हजार करोड़ रुपये तक पहुंच गया है। अब रेल इस घाटे को कम करने की कोशिश कर रहा है। इसके तहत खर्च में कटौती के साथ कई कदम उठाए जा रहे हैं।

रेल अधिकारी ने कहा कि अतिरिक्त एसी-3 स्लीपर कोच को जोड़ने का विचार इसलिए आया क्योंकि लंबी यात्रा में यात्री इसे तवज्जो देते हैं। युवा ट्रेन फिलहाल बैठने की सुविधा ही मुहैया कराती है। अधिकारी ने कहा कि हम दोनों ट्रेन में एसी-3 टायर डिब्बे जोड़ने की योजना बना रहे हैं क्योंकि ये दोनों मार्ग यात्रियों की लिहाज से भारी मांग वाले होते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:किफायती युवा ट्रेनों में जुड़ सकते हैं एसी-3 कोच