class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

'आर्थिक माहौल मुश्किल, पर बीत जाएगा यह दौर'

'आर्थिक माहौल मुश्किल, पर बीत जाएगा यह दौर'

टाटा उद्योग समूह के चेयरमैन के पद से शुक्रवार को सेवानिवृत्त हुए प्रतिष्ठित उद्योगपति रतन टाटा ने कहा है कि फिलहाल देश कठिन आर्थिक दौर से गुजर रहा है, जो संभवत: अगले साल तक बना रहेगा। टाटा को उम्मीद है कि उसके बाद भारतीय अर्थव्यवस्था फिर रफ्तार पकड़ने लगेगी।

टाटा आज 75 साल के हो गए और देश के इस प्रमुख औद्योगिक घराने की लगभग 50 साल तक सेवा करने के बाद उन्होंने समूह की कमान 44 वर्षीय साइरस मिस्त्री को सौंपी। टाटा 21 साल चेयरमैन रहे। उन्होंने सहयोगियों के नाम विदाई पत्र में कहा है कि वे इस कठिन समय में सफलता हासिल करने के लिए पूरी प्रतिबद्धता और समर्पण भाव से कम करें।

पत्र में टाटा ने कंपनी के कर्मचारियों से कहा कि वे उन मूल्यों तथा नैतिक आदर्शों के अनुसार ही काम करें, जिन पर समूह का गठन हुआ है। रतन टाटा को मानद चेयरमैन नियुक्त किया गया है।

उन्होंने कहा कि मौजूदा साल में हमने जो कठिन आर्थिक वातावरण देखा है, वह संभवत: अगले साल तक जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि हमें संभवत: उपभोक्ता मांग में कमी, अधिक क्षमता तथा आयात से बढ़ती प्रतिस्पर्धा को झेलना होगा।

टाटा ने कहा कि टाटा की कंपनियों पर कारोबारी प्रक्रिया के मामले में खुद के लिए अपनी नयी जगह बनानी होगी ताकि लागत में उल्लेखनीय कमी की जा सके। बाजार में ज्यादा आक्रामक बनना होगा और उपभोक्ताओं की जरूरतों को पूरा करने के लिए उत्पादों की सीरीज का विस्तार करना होगा।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:'आर्थिक माहौल मुश्किल, पर बीत जाएगा यह दौर'