class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांस्टेबल का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार

कांस्टेबल का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार

राष्ट्रीय राजधानी में पिछले सप्ताह चलती बस में 23 साल की युवती के साथ गैंगरेप के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान घायल हुए दिल्ली पुलिस के कांस्टेबल सुभाष चंद तोमर का मंगलवार को निधन हो गया। तोमर का मंगलवार को ही राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कर दिया गया।

मध्य दिल्ली के निगमबोध घाट पर उनका अंतिम संस्कार किया गया। इस मौके पर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री आरपीएन सिंह, मुख्यमंत्री शीला दीक्षित, केंद्रीय गृह सचिव आरके सिंह तथा दिल्ली के पुलिस आयुक्त नीरज कुमार सहित करीब 1,000 लोग मौजूद थे। तोमर को उनके बेटों दीपक तथा सोनू ने मुखाग्नि दी।

अस्पताल में भर्ती होने के बाद से वे वेंटिलेटर पर थे। तोमर उत्तर प्रदेश के मेरठ के रहने वाले थे। तोमर की नियुक्ति करावल नगर इलाके में थी। रविवार को प्रदर्शन के दौरान उन्हें कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए इंडिया गेट बुलाया गया था।

तोमर तिलक मार्ग पर घायल अवस्था में मिले थे। उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया गया। दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता ने बताया कि रात के समय कांस्टेबल सुभाष तोमर की हालत बिगड़ने लगी थी और सुबह 6.30 बजे उनका निधन हो गया।

प्रदर्शनों के दौरान जब तोमर तिलक मार्ग पर गिर गए थे तो प्रदर्शनकारियों ने उनके साथ मारपीट की व उन्हें पैरों से कुचल दिया था। राम मनोहर लोहिया अस्पताल के चिकित्सकों के मुताबिक तोमर की हालत गम्भीर थी और उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कांस्टेबल का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार