class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

60 फीसदी महिलाएं खुले में शौच को मजबूर: रमेश

60 फीसदी महिलाएं खुले में शौच को मजबूर: रमेश

केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री जयराम रमेश ने गुरुवार को लोकसभा में कहा कि देश में आज भी 60 फीसदी महिलाएं खुले में शौच को मजबूर हैं, जो बेहद शर्मनाक स्थिति है।

जयराम रमेश ने लोकसभा में प्रश्नोत्तर काल के दौरान निर्मल भारत अभियान योजना के संबंध में सदस्यों द्वारा किए गए सवालों का जवाब दिए जाने के दौरान कहा कि आज भी देश में 60 फीसदी महिलाएं खुले में शौच को मजबूर हैं जो बेहद शर्मनाक है।

उन्होंने बताया कि देश में सभी ग्राम पंचायतों को खुले में शौच की समस्या से मुक्ति दिलाने के लिए दस साल लगेंगे। उन्होंने कहा कि इस समस्या से पूरी तरह मुक्त होने वाला सिक्किम देश का पहला राज्य बन गया है। केरल इस सूची में दूसरे स्थान पर है, जबकि अप्रैल 2013 में हिमाचल प्रदेश यह सफलता हासिल करने वाला तीसरा राज्य होगा। इसके बाद हरियाणा, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश तथा कई अन्य राज्य भी इस दिशा में काफी प्रगति कर रहे हैं।

रमेश ने बताया कि वर्ष 2022 तक देश के सभी ग्राम पंचायतों को खुले में शौच की समस्या से निजात दिलाने का लक्ष्य रखा गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:60 फीसदी महिलाएं खुले में शौच को मजबूर: रमेश