class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गैंगरेप पीड़िता की हालत नाजुक, अभी भी वेंटिलेटर पर

गैंगरेप पीड़िता की हालत नाजुक, अभी भी वेंटिलेटर पर

दिल्ली में चलती बस में सामूहिक दुष्कर्म की घटना की शिकार बनी 23 वर्षीया पीड़िता की हालत अब भी नाजुक बनी हुई है। राजधानी के सफदरजंग अस्पताल में पीड़िता को वेंटिलेटर पर रखा गया है। अस्पताल के अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

अस्पताल के प्रेस सूचना अधिकारी एस. एन. मकवाना ने बताया कि पीड़िता की हालत नाजुक है और उसे वेंटिलेटर पर रखा गया है। वह डॉक्टरों से बात कर पा रही है।

पीड़िता का इलाज कर रहे अस्पताल के एक वरिष्ठ चिकित्सक ने बताया कि उनकी फिलहाल किसी तरह की सर्जरी की योजना नहीं है।

ज्ञात हो कि रविवार की रात पीड़िता अपने मित्र के साथ एक निजी बस में चढ़ी थी, जहां सात लोगों ने उसके साथ मारपीट और सामूहिक दुष्कर्म करने के बाद उसे महिपालपुर इलाके के पास चलती बस से फेंक दिया था।

बलात्कार और निर्दयी यातनाओं के बाद रविवार को सफदरजंग अस्पताल में भर्ती लड़की को अब भी अस्पताल के सघन चिकित्सा कक्ष (आईसीयू) में रखा गया है।
     
अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉक्टर बीडी अठानी ने कहा कि उसकी स्थिति कल से बेहतर हुई है। उसकी चेतना का स्तर कल से काफी बेहतर हुआ है। उसकी रविवार को एक सर्जरी हुई है।
     
उन्होंने कहा कि पीड़ित लड़की पर अगले 48 से 72 घंटों तक डॉक्टरों द्वारा करीबी नजर रखी जाएगी। उन्होंने कहा कि डॉक्टर नियमित रूप से उसकी स्थिति देख रहे हैं, ताकि उसका सर्वश्रेष्ठ इलाज हो सके।
     
डॉक्टर ने कहा कि लड़की का चेतना स्तर कल से काफी बेहतर हुआ है और उसका लगातार इलाज चल रहा है। उन्होंने कहा कि चोटों की प्रकृति को देखते हुए हम अब भी उसे खतरे से बाहर नहीं कह सकते।
     
डॉक्टरों ने कहा कि मेडिकल छात्रा के सिर और चेहरे पर काफी चोटें लगी हैं, क्योंकि उस पर लोहे की छड़ से निर्दयता से हमला किया गया।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गैंगरेप पीड़िता की हालत नाजुक, अभी भी वेंटिलेटर पर