class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सस्ते गैस सिलेंडर पर फैसला अभी बाकी: मोइली

सस्ते गैस सिलेंडर पर फैसला अभी बाकी: मोइली

निर्वाचन आयोग की आपत्ति के एक दिन बाद पेट्रोलियम मंत्री एम वीरप्पा मोइली ने बुधवार को कहा कि सस्ते एलपीजी सिलेंडरों की संख्या बढ़ाए जाने पर फैसला अभी नहीं किया गया है और यदि ऐसा फैसला होता तो इसकी सूचना निर्वाचन आयोग को जरूर दी गई होती।

मोइली ने संवाददाताओं से कहा कि अगर प्रस्ताव तैयार कर लिया गया होता और इसकी घोषणा करनी होती अथवा फैसले ले लिए गए होते तो निश्चित तौर पर मैंने चुनाव आयोग को लिखा होता।

मोइली ने कहा कि सरकार बार-बार कहती रही है कि सब्सिडी छह सिलेंडर तक सीमित करने के फैसले की समीक्षा की जा रही है और उन्होंने कल सीआईआई (उद्योग मंडल) के एक कार्यक्रम के दौरान अलग से संवाददाताओं द्वारा पूछे गए सवाल पर यही बात दोहराई थी।

उन्होंने कहा कि मैं राजनीतिक फायदे के लिए निर्वाचन आयोग के पीठ पीछे कुछ नहीं करना चाहूंगा। हमारा ऐसा कोई इरादा नहीं है। इसके बारे में हमारे सोच बिल्कुल साफ हैं तथा हम पारदर्शी और तथ्यों पर आधारित काम कर रहे हैं।

निर्वाचन आयोग ने गुजरात चुनाव के बीच मोइली के सब्सिडी वाले सिलेंडरों की संख्या बढ़ाने संबंधी कल दिए गए बयान पर कड़ी आपत्ति जतायी और उनसे तुरंत जवाब तलब किया। पेट्रोलियम मंत्री ने सरकारी जवाब में कहा है, सरकार को इस मामले पर अभी निर्णय करना है। ऐसे में मीडिया के सवालों पर मेरी टिप्पणी को सरकारी फैसले की घोषणा न माना जाए।

उन्होंने लिखा है कि मैं आश्वासन देना चाहता हूं कि कोई फैसला करते समय भारत के निर्वाचन आयोग के नियम कायदों का पूरा ध्यान रखा जाएगा। पत्रकारों से बातचीत में मोइली ने कहा कि हर तरफ से सब्सिडी वाले सिलेंडरों की संख्या छह तक सीमित करने के फैसले की समीक्षा करने की मांग की जा रही है।

कांग्रेस के करीब 100 सांसदों, कई मुख्यमंत्रियों और केंद्रीय मंत्रियों ने इस तरह की मांग उठाई है। उनकी चिंताओं का समाधान तो आज या कल तो करना ही है, लेकिन मैं यह भी जानता हूं कि भारत के निर्वाचन आयोग को लिखे बगैर ऐसा नहीं किया जा सकता।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सस्ते गैस सिलेंडर पर फैसला अभी बाकी: मोइली