class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आज से नो स्मोकिंग, डीएम को निर्देश जारी

धूम्रपान करने वाले सावधान! गांधी जयंती के अवसर पर दो अक्टूबर से बिहार समेत देश भर में सार्वजनिक स्थलों पर धूम्रपान निषेध होगा और इसका उल्लंधन करने वालों को दो सौ रुपए जुर्माना अदा करना पड़ेगा। सुप्रीम कोर्ट की हरी झंडी के बाद धूम्रपान निषेध कानून-2008 गुरुवार से प्रभावी हो रहा है। इस कानून के तहत सिगरेट, बीड़ी, हुक्का और गुटका पर प्रतिबंध लगाया गया है।ड्ढr ड्ढr होटल, रेस्तरां, बस स्टाप, रेलवे स्टेशन, कॉफी हाउस, पब, बार, एयरपोर्ट लांज, डिस्कोथीक, सिनेमा हॉल, शॉपिंग मॉल, सार्वजनिक शौचालय, स्टेडियम, आडिटोरियम, रिफ्रेशमेंट रूम, पुस्तकालय, शैक्षिक संस्थान, न्यायालय परिसर, कार्यस्थल, मनोरंजन स्थल, अस्पताल परिसर, सरकारीनिजी कार्यालय सहित सभी तरह के कार्यस्थलों पर धूम्रपान पर पूर्ण पाबंदी रहेगी। स्कूल-कालेज परिसर के 100 गज के अन्दर तम्बाकू उत्पाद बेचने पर भी पाबंदी रहेगी। सार्वजनिक स्थल के मालिक, प्रबंधक अथवा सुपरवाइजर या इंचार्ज की यह जवाबदेही होगी कि वह सभी प्रवेश द्वारों, बिल्डिंग के भीतर के मुख्य स्थलों, सीढ़ियों, लिफ्ट के आस-पास धूम्रपान निषेध बोर्ड अवश्य प्रदर्शित करें। उन्हें यह भी सुनिश्चित करना होगा कि सार्वजनिक स्थलों पर एशट्रे, माचिस, लाइटर तथा ऐसा कोई सामान उपलब्ध या प्रदर्शित न किया जाए। बिहार सरकार ने सभी डीएम को इस कानून का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है।ड्ढr ड्ढr केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डा. अम्बुमणि रामदास ने सूबे के स्वास्थ्य मंत्री नन्दकिशोर यादव को पत्र लिख इस बाबत कार्रवाई करने का आग्रह किया है। यादव ने कहा कि धूम्रपान पर पूर्व पाबंदी के लिए जनजागरण का कार्यक्रम बनाया गया है। होर्डिग और विज्ञापन स्लाइडों के जरिये इसका प्रचार किया जाएगा।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आज से नो स्मोकिंग, डीएम को निर्देश जारी