class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रांची टेस्ट के दूसरे दिन मैक्सवेल ने खेली करियर की बेस्ट पारी, बोले...

रांची टेस्ट के दूसरे दिन मैक्सवेल ने खेली करियर की बेस्ट पारी, बोले...

दो साल से ज्यादा समय के बाद टेस्ट में वापसी करते ऑस्ट्रेलिया के मैक्सवेल ने रांची टेस्ट के दूसरे दिन अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ 104 रन की पारी खेली। मैक्सवेल ने कहा कि वह नहीं चाहते थे कि भारत के खिलाफ चल रहा तीसरा टेस्ट उनके लिये अंतिम टेस्ट बन जाए। यह कहते हुए वह भावुक दिख रहे थे। मैच में कप्तान स्टीवन स्मिथ (नाबाद 178 रन) के साथ 191 रन की भागीदारी निभाकर ऑस्ट्रेलिया को 451 रन तक पहुंचाया। 
    
मैक्सवेल ने दूसरे दिन का खेल समाप्त होने के बाद कहा, यह लंबा समय रहा, मैंने अपना अंतिम टेस्ट 2014 में खेला था। मैं इस मौके को खराब नहीं करना चाहता था और निश्चित तौर पर इसे अपना अंतिम टेस्ट भी नहीं बनाना चाहता था। 

मैक्सवेल छोटे फॉरमेट में अपनी काबिलियत साबित कर चुके हैं, उन्हें टेस्ट में तीन मौके मिले, लेकिन वह इन सभी में विफल रहे। चोटिल मिशेल मार्श की वजह से उन्हें यह मौका मिला।  उन्होंने कहा, मैं जानता हूं कि यह कितना बुरा लगता है जब आपने अंतिम मैच इतने समय पहले खेला हो। मैं इस मौके का पूरा फायदा उठाना चाहता था। ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम के साथ मैदान पर उतरना बहुत अच्छा लगा। 

पत्नी और बच्चों के साथ मथुरा के चुरमुरा पहुंचे किक्रेटर यूसुफ पठान

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:india vs australia i did n0t want this to be my last test says glenn maxwell