Image Loading मियांदाद को वीजा मिला, भारत-पाक वनडे देखने आएंगे - LiveHindustan.com
शुक्रवार, 29 अप्रैल, 2016 | 11:31 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • केंद्र ने NEET पर सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की याचिका, 1 मई की परीक्षा 24 जुलाई को कराने...
  • अमेरिकी सांसद का दावा, लंबी दूरी की मिसाइल बनाने में पाक की मदद कर रहा चीन
  • जम्मू-कश्मीर: कुपवाड़ा में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में एक आतंकी ढेर, तलाशी...
  • बरेलीः किला छावनी मोहल्ले के एक मकान में आग लगी, 6 बच्चे जिंदा जले

मियांदाद को वीजा मिला, भारत-पाक वनडे देखने आएंगे

इस्लामाबाद, एजेंसी First Published:02-01-2013 08:30:38 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
मियांदाद को वीजा मिला, भारत-पाक वनडे देखने आएंगे

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान जावेद मियांदाद को भारत का वीजा मिल गया है जिससे वह छह जनवरी को नई दिल्ली में सीमित ओवरों की मौजूदा क्रिकेट सीरीज का तीसरा और अंतिम वनडे देख पाएंगे।

भारत के सबसे वांछित अपराधी दाउद इब्राहिम के साथ पारिवारिक रिश्ते होने के कारण 2005 सीरीज से पहले इस तरह की खबरें थी कि इस महान बल्लेबाज के वीजा के किसी भी आग्रह को भारत सरकार ठुकरा देगी। मियांदाद के बेटे ने दाउद की बेटी माहरुख से निकाह किया है। दाउद 1993 मुंबई बम धमाकों के संबंध में भारत में वांछित अपराधी है।

आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि मियांदाद को नई दिल्ली में तीसरे और अंतिम वनडे के लिए भारत यात्रा का वीजा जारी हुआ है। इस बीच भारत में गृह मंत्रालय ने कहा कि उसने इस्लामाबाद में वीजा मुद्दे पर भारतीय उच्चायोग को दिशानिर्देश दिए हैं। दिल्ली में एक सरकारी अधिकारी ने कहा कि व्यक्तिगत वीजा जारी नहीं किए गए हैं। गृह मंत्रालय ने इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायोग को दिशानिर्देश दिए हैं कि टीम के सदस्यों, कोचों, पीसीबी अधिकारियों और ऐसे लोगों को ही वीजा दिया जाए जिनके पास मैच के टिकट के अलावा वापसी का भी टिकट हो।

आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
 
 
 
 
 
 
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
...तो इसलिए कोई पूर्व पाक क्रिकेटर नहीं बनना चाहता देश का मुख्य कोच!...तो इसलिए कोई पूर्व पाक क्रिकेटर नहीं बनना चाहता देश का मुख्य कोच!
पाकिस्तान क्रिकेट टीम के मुख्य कोच पद की जिम्मेदारी कोई भी पूर्व क्रिकेटर नहीं उठाना चाहते हैं। पूर्व पाकिस्तानी दिग्गज क्रिकेटरों ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) पर विदेशी कोच की नियुक्ति का मन बना लेने का आरोप लगाते हुए मुख्य कोच पद के लिए आवेदन ही नहीं दिया है।