Image Loading सहवाग को कभी रास नहीं आयी कोटला की पिच - LiveHindustan.com
मंगलवार, 03 मई, 2016 | 14:15 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • सचिन तेंदुलकर ने भी रियो ओलंपिक के लिए गुडविड ब्रैंड एंबेसडर बनने के प्रस्ताव...
  • डीजल टैक्सियों पर रोक के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंची केजरीवाल सरकारः एजेंसी
  • NGT ने जंगलों में भीषण आग के लिए उत्तराखंड और हिमाचल सरकार को कारण बताओ नोटिस जारी...

सहवाग को कभी रास नहीं आयी कोटला की पिच

नई दिल्ली, एजेंसी First Published:06-01-2013 02:55:37 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
सहवाग को कभी रास नहीं आयी कोटला की पिच

नजफगढ के नवाब वीरेंद्र सहवाग को पाकिस्तान के खिलाफ तीसरे वनडे मैच के लिये अंतिम एकादश में शामिल नहीं किये जाने से दिल्ली के दर्शक भले ही निराश थे लेकिन हकीकत यह है कि यह विस्फोटक सलामी बल्लेबाज अपने घरेलू मैदान फिरोजशाह कोटला पर कभी अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाया।

सहवाग ने विश्व कप 2011 में जीत के बाद से 15 वनडे मैचों में केवल 513 रन बनाये हैं। इनमें से 219 रन उन्होंने एक पारी में (वेस्टइंडीज के खिलाफ इंदौर में) में बनाये थे। इस तरह से बाकी 14 मैच में वह केवल 294 रन ही बना पाये।

पाकिस्तान के खिलाफ पिछले दो मैच में दायें हाथ का यह बल्लेबाज केवल 35 रन बना पाया जिसके कारण उन्हें तीसरे मैच की टीम से बाहर कर दिया गया। सहवाग की जगह अंजिक्य रहाणे को अंतिम एकादश में रखा गया।

दर्शकों को हालांकि टीम प्रबंधन का यह फैसला पसंद नहीं आया और इनमें से कुछ वीरू वीरू की आवाज लगाते रहे। लेकिन लगता है कि टीम प्रबंधन ने सहवाग को बाहर करने का फैसला उनके हालिया प्रदर्शन के अलावा कोटला पर उनके रिकार्ड को देखकर भी किया।

सहवाग ने कोटला पर छह वनडे मैच खेले हैं जिनमें उन्होंने 24.00 की औसत से केवल 120 रन बनाये हैं। उनका उच्चतम स्कोर 42 रन है। टेस्ट मैचों में भी सहचाग अपने घरेलू मैदान पर कभी बड़ी पारी नहीं खेल पाये हैं। उन्होंने यहां तीन टेस्ट मैच की पांच पारियों में 201 रन बनाये हैं जिसमें उनका उच्चतम स्कोर 74 रन है।

आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
 
 
 
 
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
IPL-9: सबके छक्के छुड़ाएगा राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स का IPL-9: सबके छक्के छुड़ाएगा राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स का 'नया' बल्लेबाज
इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 9वें सीजन में नई टीम राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स का सफर मुश्किलों से भरा रहा है। पहला मैच जीतने के बाद से टीम को लगातार चार हार झेलनी पड़ी, टीम के बड़े खिलाड़ी एक के बाद एक करके चोटिल होते गए।