Image Loading
मंगलवार, 27 सितम्बर, 2016 | 07:23 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • आज के हिन्दुस्तान अखबार का फ्रंट पेज पढ़ने के लिए क्लिक करें।
  • सुविचारः हर व्यक्ति में कुछ विशेष गुण और प्रतिभा होती है इसलिए प्रत्येक...
  • सिंधु जल समझौते पर पीएम का बड़ा बयान, नीतिश बोले बिहार में डॉन के लिए जगह नहीं,...

चोट से हुई थी कांस्टेबल तोमर की मौत: पोस्टमार्टम रिपोर्ट

नई दिल्ली, एजेंसी First Published:26-12-2012 06:00:02 PMLast Updated:26-12-2012 07:36:19 PM
चोट से हुई थी कांस्टेबल तोमर की मौत: पोस्टमार्टम रिपोर्ट

दिल्ली पुलिस के कांस्टेबल सुभाष तोमर की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बुधवार को खुलासा हुआ है कि उनकी मौत किसी कुंद चीज से सीने और गर्दन पर लगी चोटों के कारण दिल का दौरा पड़ने से हुई थी।

कांस्टेबल की मौत के कारण को लेकर पैदा आशंकाओं के बीच पोस्टमार्टम रिपोर्ट ने दिल्ली पुलिस को बड़ी राहत दी है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट राममनोहर लोहिया अस्पताल के चिकित्सकीय अधीक्षक डॉक्टर टीएस सिद्धू के इस बयान विपरीत है कि कुछ मामूली चोटों के अलावा तोमर को कोई बड़ी बाहरी चोट नहीं थी और न ही कोई गंभीर अंदरूनी चोट थी।

रिपोर्ट में कहा गया कि 47 वर्षीय तोमर के बायीं ओर की तीसरी, चौथी और पांचवीं पसली टूटी हुई थी और कई जगहों से हल्का रक्तस्राव है। पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल द्वारा गठित मेडिकल बोर्ड ने मौत के कारण के बारे में कहा कि संभवत: किसी कुंद चीज से सीने और गर्दन पर लगी चोटों के कारण दिल का दौरा पड़ने से मौत हुई।

सूत्रों ने कहा कि कोशिकाओं में रक्त का बहाव मौजूद था और शरीर पर किसी कुंद चीज से हुए जोरदार प्रहार से गर्दन की मांसपेशियों तथा अन्य चोटें लगीं। रिपोर्ट के बारे में अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (नई दिल्ली) केसी द्विवेदी ने कहा कि यह पाया गया कि उनके सीने, गर्दन और पैरों पर चोटें थीं, जिसके कारण उन्हें दिल का दौरा पड़ा और उनकी मौत हुई।

द्विवेदी ने कहा कि उन्हें काफी चोटें लगी थीं। उनकी पसलियां टूटी हुई थीं। इन चोटों के कारण उनकी स्थिति बिगड़ी और फिर उन्हें दिल का दौरा पड़ा। गौरतलब है कि तोमर की मौत पर विवाद उस समय पैदा हुआ था जब एक लड़की सहित दो चश्मदीद गवाहों ने दावा किया था कि तोमर पर हमला नहीं किया गया और वह रविवार को इंडिया गेट पर प्रदर्शनकारियों का पीछा करते हुए उनके सामने जमीन पर गिर पड़े थे।

यह पूछे जाने पर कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद क्या पुलिस राममनोहर लोहिया अस्पताल के डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई शुरू करेगी, द्विवेदी ने कहा कि वह इस संबंध में कोई टिप्पणी नहीं कर सकते क्योंकि जांच अपराध शाखा के पास है। उन्होंने कहा कि मैं डॉक्टरों या चश्मदीद गवाहों के बयानों पर टिप्पणी नहीं कर सकता।

लाइव हिन्दुस्तान जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title:
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड