class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

देशभर में अलकायदा के आतंकी हमले की आशंका

देशभर में अलकायदा के आतंकी हमले की आशंका

देश के अलग अलग हिस्सों में आतंकी खतरे का साया मंडरा रहा है। यह आशंका आतंकवाद से लड़ने वाले विशिष्ट आतंकवाद निरोधक बल,एनएसजी ने खुफिया जानकारी के आधार पर जताई है।

एनएसजी ने चेतावनी दी है कि आईएस और अलकायदा जैसे वैश्विक आतंकवादी संगठन हाथ मिलाकर भारत पर एक अधिक शहरों में एक से अधिक हमले कर सकते हैं। संयुक्त आतंकी हमले की चेतावनी राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड एनएसजी के महानिदेशक जे एन चौधरी ने दी। वे मानेसर में एनएसजी के स्थापना दिवस के मौके पर पत्रकारों से बात कर रहे थे।

उन्होंने 2008 मुंबई हमलों को आतंकी हमलों की एक झलक बताया। हालांकि एनएसजी प्रमुख ने यह भरोसा भी जताया कि एनएसजी पूरी तरह से तैयार है और जैसी भी जरूरत और जब भी जरूरत होगी वह जवाब देगा।

एनएसजी की यह चेतावनी सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी सुब्रत साहा की ओर से आईएस का झंडा फहराने को लेकर जाहिर की गई चिंता के बाद आया है। साहा ने कहा था कि सुरक्षा एजेंसियों को इस ओर ध्यान देने की जरूरत है ताकि घाटी में युवाओं को जेहादी संगठनों के बहकावे में आने से रोका जा सके।

इनका हो सकता है गठजोड़
चौधरी ने कहा कि अब यह चिंता कोरी आशंका नहीं है कि इन आतंकवादी संगठनों को हरकत उल मुजाहिदीन, जैश ए मोहम्मद, इंडियन मुजाहिदीन और लश्करे तैयबा जैसे संगठनों के रुप में सहयोगी मिल सकते हैं जिनकी  भारत मे पहले से मौजूदगी और गतिविधि है। एनएसजी महानिदेशक ने कहा कि ऐसे में जब अलकायदा जैसे अंतरराष्ट्रीय संगठनों ने भारत में हमला करने का अपना इरादा घोषित कर दिया है वे जाहिर तौर पर ज्ञात समूहों का साथ लेंगे जो हमारे देश में पहले से सक्रिय हैं। उन्होंने कहा हमारे समक्ष यह डर है कि यदि उनकी कोई मिलजुली रणनीति या मिलाजुला अभियान है तो हमें तैयार रहने के साथ ही अलर्ट रहना होगा कि कहीं यह मिला जुला आतंकवादी समूह हरकत में न आ जाए। उन्होंने कहा हम इसके लिए तैयारी कर रहे हैं। इसलिए हम आतंकवाद निरोधक बलों और राज्य पुलिस बलों के साथ काम कर रहे हैं।

खुफिया एजेंसी से मिला इनपुट
एनएसजी महानिदेशक ने कहा कि एनएसजी के पास देश और विदेश में उभरती सुरक्षा संबंधित घटनाक्रमों की पुष्टि करने के लिए कोई स्वतंत्र गुप्तचर ढांचा नहीं है लिहाजा ये आशंकाएं उनके संज्ञान में खुफिया एजेंसियों द्वारा लाई गई हैं। चौधरी ने कहा आतंकवाद पहले से अधिक खतरनाक हो गया है। इसलिए हमारा प्रयास यह सुनिश्चित करना है कि हम पहले से विचार करें और किसी अनिश्चित घटना को रोकने के लिए तैयारी करने का प्रयास करें। उन्होंने कहा कि एनएसजी अपने जवानों को आईईडी की मदद से किए जाने वाले फिदायीन हमलों का मुकाबला करने के प्रशिक्षण मुहैया कराने पर विचार कर रहा है।

एनएसजी महानिदेशक ने कहा कि एनएसजी में महिला कमांडो को बढ़ाने का प्रयास किया जाएगा जो वर्तमान में 20 से कम है। उन्होंने कहा कि एनएसजी ने गृहमंत्रलय से एनएसजी के लिए विशेष उपकरण की खरीद में तेजी लाने का अनुरोध किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:देशभर में अलकायदा के आतंकी हमले की आशंका