Image Loading दरिंदों को सताने लगी जान की फिक्र - LiveHindustan.com
मंगलवार, 03 मई, 2016 | 12:21 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • बीसीसीआई ने खेल रत्न अवॉर्ड के लिए विराट कोहली का नाम भेजा

दरिंदों को सताने लगी जान की फिक्र

नई दिल्ली, वरिष्ठ संवाददाता First Published:06-01-2013 11:42:50 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

वसंत विहार गैंगरेप के दरिंदों को अब अपनी जान की चिंता सताने लगी है। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि रविवार को दो आरोपियों ने अदालत में सरकारी गवाह बनने की इच्छा जाहिर की।

दो अन्य आरोपियों ने मुकदमे के लिए कोर्ट से कानूनी सहायता उपलब्ध कराने का आग्रह किया है। इस मामले में चार आरोपियों राम सिंह व उसके भाई मुकेश और पवन व विनय की न्यायिक हिरासत अवधी समाप्त होने पर उन्हें रविवार को छुट्टी के दिन साकेत स्थित ड्यूटी मजिस्ट्रेट ज्योति क्लेर के चैंबर में पेश किया गया। बाद में मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट ज्योति क्लेर ने ओपन कोर्ट में आदेश पारित करते हुए कहा कि दो आरोपियों पवन व विनय ने सरकारी गवाह बनने की इच्छा जाहिर की है। आदेश में आरोपियों को इसके लिए संबंधित कोर्ट में अर्जी दायर करने को कहा गया है।

आरोपी विनय और पवन ने कानूनी सहायता लेने से भी इनकार कर दिया है। इन दोनों आरोपियों ने इससे पहले दो मौकों पर पेशी के दौरान अदालत में अपना गुनाह कबूल कर अपने लिए मौत की सजा मांगी थी। अदालत ने सभी आरोपियों की न्यायिक हिरासत की अवधि 19 जनवरी तक बढ़ाते हुए कहा कि आरोपी राम सिंह और उसके भाई मुकेश ने कानूनी सहायता के लिए वकील मुहैया कराने का आग्रह किया है। पीड़ित युवती की मौत के बाद चारों आरोपियों की अदालत में यह पहली पेशी थी।

उल्लेखनीय है कि साकेत स्थित जिला कोर्ट के सभी वकील इस मामले में आरोपियों का केस लड़ने से इनकार कर चुके हैं। ऐसे में आरोपियों को सरकार की ओर से वकील मुहैया करवाया जा सकता है।

आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
 
 
 
 
 
|
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
पाकिस्तान क्रिकेट में बड़ा बदलाव, टीम से बाहर तीन बड़े दिग्गजपाकिस्तान क्रिकेट में बड़ा बदलाव, टीम से बाहर तीन बड़े दिग्गज
पाकिस्तान क्रिकेट में बड़े बदलाव की आंधी आने वाली है और इसकी शुरुआत हो चुकी है। इंग्लैंड दौरे के लिए घोषित किए गए संभावित खिलाड़ियों की लिस्ट से तीन बड़े नाम गायब हैं।