Image Loading पड़ोसी भी सदमे में, छलकी आंखें - LiveHindustan.com
गुरुवार, 05 मई, 2016 | 14:03 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • मेरठ: फूलबाग कालोनी से अपहृत महामंडलेश्वर राजेंद्र स्वरूप का शव मवाना में मिला,...
  • कीनन-रूबेन हत्याकांडः मुंबई की अदालत ने सभी चारों दोषियों को उम्रकैद की सजा...
  • केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में कहा, डीजल टैक्सी बैन से बीपीओ काल सेंटर बिजनेस...
  • नोएडा: स्कूल बसों और ऑटो की टक्कर में इंजीनियर लड़की समेत 2 की मौत। क्लिक करें

पड़ोसी भी सदमे में, छलकी आंखें

First Published:30-12-2012 10:42:34 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

 नई दिल्ली वरिष्ठ संवाददाता

इस मौत के बाद पड़ोसियों की हालत भी कुछ अच्छी नहीं। पूरे इलाके में मातम पसरा हुआ था और उसकी मौत की सूचना आने के बाद शायद ही किसी पड़ोसी का चूल्हा जला हो। इस सब के बीच कई महिलाएं आंखों में आंसू लिए उसके घर को नहिार रहीं थी। उसके मिलनसार व्यवहार की चर्चा कर फफक रहीं थीं। हालांकि इस दर्दनाक हादसे के बाद किसी की हिम्मत उनके परिजनों से आंखें मिलाने की नहीं हो रही थी।

शनिवार की सुबह मौत की सूचना तड़के ही मुहल्ले में पहुंच गई थी। उसके बाद सभी सड़कों पर उतर आए थे और शव के आने का इंतजार कर रहे थे। सुबह जब अचानक वहां की सुरक्षा बढ़ाई गई तो कई लोग डर भी गए थे, बाद में पुलिस अधिकारियों के समझाने पर उन्हें स्थिति का अंदाजा हुआ। इलाके की कई लड़कियां एक साथ जुटी हुई थीं और मृतिका को इंसाफ दिलाने के लिए आवाज भी बुलंद कर रहीं थीं। उनका कहना था कि दरिंदों को ऐसी सजा मिलनी चाहिए कि फिर कोई ऐसा घृणित कार्य करने की हिम्मत न जुटा पाए।

पड़ोसियों का कहना था कि वारदात के दो दिन बाद ही उन्हें पता लग सका था कि यह हादसा उसी के साथ हुआ है। सब उसके जल्द ठीक होने की दुआ भी मांग रहे थे लेकिर शायद किस्मत को मंजूर नहीं था।

आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
 
 
 
 
 
 
 
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट