Image Loading
मंगलवार, 31 मई, 2016 | 11:23 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • एडमिरल सुनील लांबा बने नौसेना प्रमुख
  • महाराष्ट्र के केंद्रीय हथियार डिपो में आग, सेना के 17 लोगों की मौत: टीवी रिपोर्ट
  • शेयर बाजार: सेंसेक्स 103 अंक चढ़कर 26,828 पर खुला, निफ़्टी 8,205
  • श्रीलंकाई नेवी ने रामेश्वरम के पास भारतीय नौका पकड़ी, 7 भारतीय मछुआरे गिरफ्तार
  • विदेश मंत्री सुषमा स्वराज आज करेंगी अफ्रीकी छात्रों से मुलाकात
  • मध्यम दूरी तक मार करने वाली उत्तर कोरियाई मिसाइल का प्रक्षेपण विफल

किचन में कर लें अप्लाइंसेस से दोस्ती

चयनिका निगम First Published:28-12-2012 12:36:02 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
किचन में कर लें अप्लाइंसेस से दोस्ती

माइक्रोवेव में खाना गरम कर लिया, हैंड ब्लेंडर से दही फेंट लिया, चॉपर से प्याज कतर ली। जरा रुकिए, क्योंकि आपके किचन के इन अप्लाइंसेस का बस इतना सा काम नहीं होता। दूसरों ने जितना बेसिक काम इन अप्लाइंसेस का सिखा दिया, बस उतना ही करने की जरूरत नहीं है। तकनीक से दूर न भागिए, बल्कि इस नए साल पर इनसे हाथ मिलाइए और होम अप्लाइंसेस के ज्यादा से ज्यादा उपयोग के बारे में सोचिए और समझिए।

सबको खाना स्वाद लगा कि नहीं...जल्दी-जल्दी हाथ तो चलाए थे, पर कहीं समय ज्यादा तो नहीं लग गया़...किचन में पेट और स्वाद दोनों का ख्याल रखने वाला खाना बनाने के लिए आप कितनी मेहनत करती हैं। कभी मां को फोन करके तरीका पूछती हैं तो कभी सहेली से उसकी वाली रेसिपी पूछती हैं। पर कभी सोचा है तकनीक का इस्तेमाल आपके खाने के परिणाम को जरा और बढ़िया कर सकता है! करना बस इतना है कि किचन की शेल्फ में सजे ढेरों होम अप्लाइंसेस का अधिक से अधिक इस्तेमाल कैसे किया जा सकता है, यह सीखना है। ऐसा करने से आप समय भी बचा पाएंगी। 
    
जैसे माइक्रोवेव को तो आप बस खाना गरम करने की मशीन ही समझती हैं, जबकि इसमें होने वाले कामों का तो अंदाजा ही नहीं लगाया जा सकता। आलू, शकरकंद उबालना हो या बैंगन भूनना हो, इसमें सब कुछ हो सकता है। दिल्ली की गायत्री कहती हैं, ‘दरअसल अप्लाइंसेस के यूजर मैनुअल पढ़ने की जहमत हम नहीं उठाते और खाना गरम करने के आधारभूत सिस्टम को समझकर ही काम चलाने लगते हैं। इसी वजह से बाकी अप्लाइंसेस भी एक या दो कामों भर के रह जाते हैं। अब सैंडविच मेकर को ही ले लीजिए।

इसके नाम के हिसाब से ज्यादा गृहणियां बस इसमें सैंडविच ही पकाती हैं। जबकि इसको ग्रिलर के तौर पर भी इस्तेमाल किया जा सकता है। वहीं राइस कुकर की बात करें तो इसमें स्टीमिंग बकेट होती है जो चावल से अलग सब्जियां स्टीम करने के काम आ सकती है। हैंड ब्लैंडर के साथ भी मामला कुछ ऐसा ही है। ज्यादातर महिलाएं दही फेंट लेती हैं, मिल्क शेक बना लेती हैं, पर इसका इस्तेमाल पालक या साग बनाते समय उन्हें फेंटने, कढ़ी बनाते समय बेसन को एकसार करने, झागदार कॉफी बनाने और छोटी-मोटी चीजों को चॉप करने के लिए किया जा सकता है।

माइक्रोवेव है बड़े काम का
- भर्ते के लिए बैंगन भूनना है तो उसमें कई जगह पर छेद कर लें, चाहें तो इन छेदों में लहसुन की कलिया फंसा दें। फिर थोड़ी चिकनाई लगाकर इसे दो से तीन मिनट के लिए माइक्रोवेव करें।
- अच्छी तरह से धोकर आलू या शकरकंद एक पॉलिथीन बैग में रखें। बैग में जगह-जगह छेद कर दें। 5 मिनट के माइक्रोवेव के बाद उबले आलू तैयार हैं।
- मखाने नमकीन करने हों तो हाथ में चिकनाई लेकर इन पर रगड़ दें, नमक छिड़कें। दो मिनट में कुरकुरे मखाने तैयार हो जाएंगे।
- नीबू या संतरे का रस निकालने से पहले इन्हें माइक्रोवेव में घुमा दें, रस अधिक निकलेगा।
- माइक्रोवेव की प्लेट पर तीन-चार पापड़ एक साथ बिछा दें, और इन्हें भून लें।

 
 
 
 
|
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
Bihar Board Result 2016
Assembely Election Result 2016
क्रिकेट स्कोरबोर्ड