Image Loading ट्रेनिंग लेकर अभिभावक खुद बनाएंगे अपने लाडलों को ‘स्पेशल’ - LiveHindustan.com
शनिवार, 30 अप्रैल, 2016 | 16:45 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • मुंबई में दो मंजिला इमारत ढही, तीन के मरने की सूचना
  • पाकिस्तान का ये नामचीन शहर जिस पर हिन्दुस्तानियों का है कब्जा! वीडियो देखने के...
  • NEET के खिलाफ ताजा याचिका पर सुनवाई से इनकार, SC ने कहा- परीक्षा होने दीजिए
  • दिल्ली में ऑड-ईवन का आज अंतिम दिन, सर्वे में वोट करने के लिए क्लिक करें

ट्रेनिंग लेकर अभिभावक खुद बनाएंगे अपने लाडलों को ‘स्पेशल’

गुड़गांव। कुमार हरिओम First Published:26-12-2012 09:33:11 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

अपने लाडलों को दूसरें बच्चों की तरह स्पेशल बनाने के लिए अब अभिभावकों को किसी एक्सपर्ट की जरूरत नहीं रहेगी। वे खुद इसके लिए बच्चों को तैयार कर सकेंगे। स्पेशल नीड वाले बच्चों को तैयार करने के लिए सर्व शिक्षा अभियान (एसएसए) ऐसे अभिभावकों को स्पेशल ट्रेनिंग दे रहा है। जिससे वे अपने बच्चों को तैयार कर सकें। ब्लॉक स्तर पर होने वाला प्रशिक्षण हरियाणा में पहली बार शुरू किया जा रहा है।


सीडब्ल्यूएसएन बच्चों को जमीनी स्तर पर प्रशिक्षित करने के लिए सर्व शिक्षा अभियान ने प्रदेश स्तर पर प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू किया है। जिसमें ऐसे बच्चों के साथ उनके अभिभावकों को स्पेशल प्रशिक्षण देकर प्रशिक्षित किया जाएगा। तीन दिनों तक आयोजित होने वाले कैंप की खास बात यह रहेगी कि बच्चों की तरह अभिभावकों को इसके लिए पूरा प्रशिक्षित किया जाएगा। इसके अलावा अभिभावकों को भी आने वाली समस्याओं को दूर किया जाएगा। एसएसए के अधिकारियों ने बताया कि प्रदेश में ब्लॉक स्तर पर पहली बार ऐसे कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। इससे इन बच्चों को सबसे अधिक फायदा पहुंचेगा। एसएसए  ने कैंप का पूरा शेडय़ूल भी तैयार कर लिया है जिसमें चारों ब्लॉक में तीन-तीन दिनों का कैंप लगाकर इन बच्चों के अभिभावकों को प्रशिक्षित किया जाएगा।

कैंप में क्या होगा खास--
-मनोवैज्ञानिक तरीके से बच्चों को सिखाया जाएगा
-व्यवहारिकता के लिए दी जाएगी टिप्स
-घर पर पढ़ाने की भी दी जाएगी ट्रेनिंग।
-संचार साधनों से परस्पर सामंजस्य बैठाने के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा।

कलस्टर स्तर पर किया गया प्रशिक्षित
इससे पहले भी एसएसए ने दो साल पहले कलस्टर स्तर पर ऐसे बच्चों के अभिभावकों को प्रशिक्षित किया था। दो दिन के प्रशिक्षण कैंप में शारीरिक के साथ व्यावहारिकता के लिए नए उपाय बताए गए। लेकिन इसके बाद प्रशिक्षण कैंप नहीं होने से उसका फायदा नहीं मिल पाया था।
इनसेट
बीएस मजाैका, डीपीसी, सर्व शिक्षा अभियान
शेडय़ूल तैयार कर लिया गया है मुख्यालय से फंड आते ही ब्लॉक स्तर पर कैंप का आयोजन कराया जाएगा।

आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
 
 
 
 
 
|
 
 
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
गुस्साए धौनी बोले, गुस्साए धौनी बोले, '...ऐसा रहा तो हर बार हारेंगे'
गुजरात लायंस के खिलाफ शुक्रवार को मिली बेहद नजदीकी हार से निराश पुणे सुपाजाइंट्स के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने कहा कि टीम को हार की वजहों का आंकलन करना होगा।