class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गैंगरेप के विरोध में लगी जन संसद

कग्रेटर नोएडा/वरिष्ठ संवाददाता

दिल्ली में हुई गैंगरेप की घटना का विरोध रविवार को भी जारी रहा। ‘महिला सुरक्षा के सवाल’ विषय पर जन संसद का अयोजन किया गया। जिसमें शहर के बुद्धिजीवियों ने शिरकत की। वहीं हजारों स्कूली बच्चों ने शहर में प्रदर्शन किया। शहर के कई सेक्टरों में मार्च निकाले गए। अब तो किसान संगठन भी इस मुद्दे पर खुलकर साथ आ गए हैं।

जन संसद का अयोजन ‘जन सशक्तिकरण’ संस्था के तत्वावधान में एसेन्ट इंटरनेशनल स्कूल में आयोजित की गई। ‘महिला सुरक्षा के सवाल’ विषय पर संसद लगी। बतौर मुख्य वक्ता प्रोफेसर बिनेश ने कहा कि भारतीय संस्कृति और संस्कार इतने मजबूत हैं कि उनके जरिए ऐसे समाज का विकास किया जा सकता है जो महिलाओं का सम्मान करे। सपा नेता राज कुमार भाटी ने कहा कि जो समाज स्त्री का सम्मान नहीं करता, उसका पतन हो जाता है। कृष्णकांत सिंह, चंद्र शेखर गर्गे, वाईपी सिंह, हरीश्चंद्र गुप्ता, विभा ठाकुर, रीता खारी, श्वेता लोहित, डा.अपर्णा वाजपेयी ने विचार व्यक्त किए।

अखिल भारतीय लोकाधिकार संगठन ने परी चौक पर विरोध प्रकट किया। इस मार्च में महिलाएं और बच्चों बड़ी संख्या में शामिल हुए। संगठन ने ऐसे अपराधों को रोकने के लिए पुलिस-प्रशासन से कठोर कदम उठाने की अपील की। मुख्य रूप से सतीश गुलिया, जिले सिंह, पवन दुआ, जय भगवान, अरुण त्यागी शामिल रहे। दोपहर बाद आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने भी परी चौक तक मार्च निकाला। सेक्टर बीटा टू, सेक्टर एल्फा वन, सेक्टर एल्फा टू, सेक्टर डेल्टा वन के लोगों ने शाम को परी चौक तक रैली निकाली।

गांव रौनीजा में राष्ट्रीय किसान यूनियन ने घटना की निंदा करने के लिए बैठक का आयोजन किया। पीड़ित लड़की के जल्दी स्वस्थ होने की कामना की। संसद और सरकार से ऐसे मामलों में फांसी की सजा मुकर्रर करने की मांग की। राष्ट्रीय अध्यक्ष समवीर फौजी, मेधराज भाटी, मौअज्जम खां, विजय पाल भाटी, चन्दर पहलवान मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गैंगरेप के विरोध में लगी जन संसद