Image Loading स्वामी श्रद्धानन्द का बलिदान दिवस मनाया - LiveHindustan.com
बुधवार, 04 मई, 2016 | 01:38 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • आईपीएल 9: दिल्ली डेयरडेविल्स ने गुजरात लायंस को आठ विकेट से हराया।
  • आईपीएल 9: गुजरात लायंस ने दिल्ली डेयरडेविल्स के सामने 150 रन का लक्ष्य रखा
  • माल्या का त्यागपत्र प्रक्रिया के अनुरूप नहीं, इस पर वास्तविक हस्ताक्षर नहीं:...
  • राज्यसभा अध्यक्ष हामिद अंसारी ने प्रक्रियागत आधार पर विजय माल्या का इस्तीफा...
  • आईपीएल 9: दिल्ली डेयरडेविल्स ने गुजरात लायंस के खिलाफ टॉस जीता, पहले फील्डिंग का...
  • आगस्ता घूसकांड पर सोनिया गांधी के घर पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं की बैठक: टीवी...
  • नीट मामलाः सुप्रीम कोर्ट ने राज्यों के इस साल अलग परीक्षा कराने की इजाजत पर...

स्वामी श्रद्धानन्द का बलिदान दिवस मनाया

First Published:23-12-2012 09:39:18 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

दादरी

आर्य प्रतिनिधि सभा ने रविवार को रेलवे रोड स्थित आर्य समाज मंदिर में स्वामी श्रृद्धानन्द का 86वां बलिदान दिवस मनाया। इस दौरान श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। सभा में आर्य प्रतिनिधि सभा के जिला उपाध्यक्ष डा.आन्नद आर्य ने श्रद्धानन्द को महान स्वतंत्रता सेनानी बताया। उन्होंने हरिद्वार में गंगा के किनारे कांगड़ी वशि्वविधालय की स्थापना की थी। अमर शहीद श्रद्धानन्द ने अग्रेंजों के खिलाफ भारतीय स्वतंत्रा आंदोलन को नेतृत्व प्रदान किया था। 1919 में अग्रेंजी सैनिकों को छाती खोलकर गोली चलाने के लिए ललकारा था।

राष्ट्र की प्रति समर्पित ऐसे व्यक्तित्व के धनी स्वामी की दिल्ली में 23 दसिंबर को रशीद नाम के एक युवक ने हत्या कर दी थी। इस दौरान वक्ताओं ने श्रद्धा सुमन अर्पित किए। इस मौके पर सुधीर रावल, बलवीर आर्य, कशिनलाल, श्रीपाल, प्रेमपाल शास्त्री, रामनाथ सिंह, ओमप्रकाश कसाना आदि लोग मौजूद थे।

आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
 
 
 
 
 
 
 
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
पंत की आतिशी पारी से दिल्ली डेयरडेविल्स ने गुजरात लायंस को हरायापंत की आतिशी पारी से दिल्ली डेयरडेविल्स ने गुजरात लायंस को हराया
अपने गेंदबाजों के अनुशासित प्रदर्शन के बाद रिषभ पंत के 40 गेंद में 69 रन की बदौलत दिल्ली डेयरडेविल्स ने गुजरात लायंस को आठ विकेट से हराकर आईपीएल की अंकतालिका में दूसरे स्थान पर कब्जा कर लिया।