Image Loading
रविवार, 29 मई, 2016 | 22:51 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • आईपीएल 9 फाइनल: आरसीबी का पहला विकेट गिरा, क्रिस गेल 76 रन बनाकर आउट
  • आईपीएल 9 फाइनल: आरसीबी ने 9 ओवर में बिना किसी नुकसान के 100 रन बनाए
  • आईपीएल 9 फाइनल: क्रिस गेल ने 25 गेंदों पर नाबाद 50 रन बनाए
  • आईपीएल 9 फाइनल: आरसीबी ने 4 ओवर में बिना किसी नुकसान के 42 रन बनाए
  • आईपीएल 9 फाइनल: आरसीबी ने 2 ओवर में बिना किसी नुकसान के 18 रन बनाए
  • आईपीएल 9 फाइनल: सनराइजर्स ने आरसीबी के सामने 209 रनों का लक्ष्य रखा
  • आईपीएल 9 फाइनल: सनराइजर्स ने 19 ओवर में सात विकेट खोकर 184 रन बनाए
  • आईपीएल 9 फाइनल: सनराइजर्स का पांचवां विकेट गिरा, युवराज 38 रन पर आउट
  • आईपीएल 9 फाइनल: सनराइजर्स ने 16 ओवर में चार विकेट खोकर 147 रन बनाए
  • आईपीएल 9 फाइनल: सनराइजर्स का तीसरा विकेट गिरा, वार्नर आउट
  • आईपीएल 9 फाइनल: सनराइजर्स का दूसरा विकेट गिरा, हेनरिक्स 4 रन पर आउट
  • आईपीएल 9 फाइनल: सनराइजर्स का पहला विकेट गिरा, शिखर धवन 28 पर आउट
  • आईपीएल 9 फाइनल: सनराइजर्स ने 5 ओवर में बिना किसी नुकसान के 46 रन बनाए
  • आईपीएल 9 फाइनल: सनराइजर्स ने दो ओवर में बिना किसी नुकसान के 12 रन बनाए
  • आईपीएल 9 फाइनल: सनराइजर्स हैदराबाद ने आरसीबी के खिलाफ टॉस जीता, पहले बल्लेबाजी...
  • दिल्ली: आप विधायक जगदीप गिरफ्तार, हरिनगर से विधायक हैं जगदीप, कूड़ा फेंकने पर...
  • किरण बेदी ने उपराज्यपाल की शपथ ली, पुडुचेरी के उपराज्यपाल पद की शपथ ली: टीवी...
  • गुड़गांव के मानेसर प्लांट में आग लगी, करोड़ों रुपये का सामान जला: टीवी रिपोर्ट्स
  • भाजपा ने वेंकैया नायडू, बीरेंद्र सिंह, निर्मला सीतारमण, मुख्तार अब्बास नकवी और...
  • कर्नाटक के दावणगेरे में पीएम मोदी की रैली, पीएम मोदी ने कहा, देश को गलत दिशा में...
  • मथुरा जंक्शन पर ट्रेन में बम रखे होने की आगरा से मिली झूठी सूचना , आधा दर्जन...
  • विदेशियों पर हमले पर बोले विदेश राज्यमंत्री वीके सिंह, पुलिस से मामले की...
  • BSEB 10th result : टॉप 10 में 42 बच्चे हैं। सभी जमुई के सिमुलतला आवासीय विद्यालय के हैं। पूरी...
  • BSEB 10th result : सीबीएसई की तर्ज पर बिहार बोर्ड भी करेगा कंपार्टमेंट एग्जाम। चेक करें...
  • BSEB 10th result : 10.86% छात्र ही प्रथम श्रेणी में पास हो सके। Click कर देखें रिजल्ट
  • BSEB 10th result : 54.44% लड़के पास हुए जबकि मात्र 37.61% लड़कियां ही पास हो सकीं। Click कर देखें रिजल्ट
  • हिन्दुस्तान ब्रेकिंगः BSEB 10th result : मैट्रिक का रिजल्ट 50% भी नहीं, Click कर देखें रिजल्ट

सब खेतों को पानी देने के लिए बदलनी होगी नीति

भारत डोगरा, सामाजिक कार्यकर्ता First Published:23-12-2012 07:06:38 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

सिंचाई को कृषि विकास के लिए सबसे जरूरी माना गया है, पर देश की सिंचाई व्यवस्था गंभीर समस्याओं से घिरी है। आंकड़े बताते हैं कि 1991-92 से अब तक करीब दो लाख करोड़ रुपये खर्च होने के बाद भी बड़ी व मध्यम सिंचाई परियोजनाओं से होने वाली सिंचाई नहीं के बराबर बढ़ी है।

मौजूदा सिंचाई परियोजनाओं में एक बड़ी समस्या तो भ्रष्टाचार की है। केवल महाराष्ट्र में भ्रष्टाचार का अनुमान हजारों करोड़ रुपये का है। इसके कारण न केवल परियोजनाओं की गुणवत्ता पर असर पड़ता है, बल्कि कई अनुचित योजनाओं को भी तमाम दुष्परिणामों व खतरों की आशंका के बावजूद अपना लिया जाता है। ऐसी परियोजनाओं के कारण लाखों लोगों का बेवजह विस्थापन होता है। कई बार नदियों के प्रवाह पर इसका बहुत बुरा असर पड़ता है और पर्यावरण को भी नुकसान पहुंचता है। इस तरह की महंगी व बड़ी परियोजनाओं के स्थान पर ऐसी लघु सिंचाई व वाटरशेड परियोजनाओं के लिए बजट उपलब्ध होना चाहिए, जो चेक डैम, बंधीकरण, तालाब निर्माण व मरम्मत आदि उपायों से ‘खेत का पानी खेत में व गांव का पानी गांव में’ रोकने पर आधारित हों।

इनमें या तो विस्थापन होता ही नहीं है या इसे गांववासी अपने स्तर पर नियोजन से न्यूनतम कर सकते हैं। प्राय: नदी से पानी बड़े पैमाने पर हटाने की भी जरूरत नहीं पड़ती, जिससे नदियों का प्राकृतिक प्रवाह बना रहता है। ऐसी परियोजना दो-तीन वर्षो में ही अच्छा लाभ देने लगती है। इसके साथ ही यह भी जरूरी है कि ऐसी परियोजनाओं को निर्धन वर्ग खासकर दलित व आदिवासी किसानों के कल्याण से जोड़ा जाए।

जिन स्थानों पर वाटरशेड का कार्य ईमानदारी से किया गया है व विशेषकर कमजोर वर्ग को लाभ दिलाने के लिए उसमें भूमि वितरण सुनिश्चित करने के कार्य को जोड़ा गया है, वहां के परिणाम उत्साहवर्धक हैं। इस तरह का मॉडल चित्रकूट जिले की मनगवां पंचायत में व बांदा जिले की नेरुआ पंचायत (उत्तर प्रदेश) में देखा जा सकता है। वहां ऐसे अनेक दलित व आदिवासी किसान हैं, जिनके घरों में पहली बार अपने खेतों का इतना अनाज आ सका है कि उनकी खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित हो। जहां मनगंवा के आदिवासी पहले बंधुआ मजदूरी जैसी स्थिति में काम कर रहे थे व नेरुआ के दलित प्रवासी मजदूरी पर आश्रित हो चुके थे, वहां अब उनके पहले बंजर व वीरान पड़े खेतों पर हरी फसलें लहलहा रही हैं।

छोटी सिंचाई और वाटरशेड परियोजनाओं के लाभ जल्दी ही मिलने लगते हैं, जबकि बड़ी परियोजनाओं में बहुत लंबे समय तक इंतजार करना पड़ता है। इनमें तो स्थानीय लोगों की बहुत अच्छी भागीदारी होती है। इनमें पानी की फिजूलखर्ची और विस्थापन नहीं के बराबर होते हैं। मिट्टी व जल संरक्षण के हिसाब से भी यह जरूरी है। लेकिन बड़ी परियोजनाओं से अपने कई सारे हित साधने वाले क्या इस ओर ध्यान देंगे?
(ये लेखक के अपने विचार हैं)

 
 
 
 
|
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
Bihar Board Result 2016
Assembely Election Result 2016
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
आईपीएल 9 फाइनल: गेल की विस्फोटक पारी से आरसीबी ने बौना बनाया लक्ष्यआईपीएल 9 फाइनल: गेल की विस्फोटक पारी से आरसीबी ने बौना बनाया लक्ष्य
क्रिस गेल ने सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ आईपीएल नौ के फाइनल में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूर को विस्फोटक शुरुआत दी है। समाचार लिखे जाने तक बेंगलूर ने बिना किसी नुकसान के 9 ओवर में 100 रन बना लिए थे।