Image Loading
रविवार, 11 दिसम्बर, 2016 | 15:25 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • खराब दृश्यता के कारण यूपी के बहराइच में नहीं उतरा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का...
  • INDvsENG: इंग्लैंड को लगा तीसरा झटका, बिना खाता खोले मोइन अली आउट
  • INDvsENG: इंग्लैंड को लगा तीसरा झटका, बिना खाता खोले मोइन अली आउट
  • INDvsENG: इंग्लैंड को लगा दूसरा झटका, 18 रन बनाकर कुक आउट
  • मुंबई टेस्टः दूसरी पारी में इंग्लैंड को लगा पहला झटका, भुवनेश्वर की पहली ही गेंद...
  • मुंबई टेस्टः 631 रन बनाकर ऑलआउट हुई टीम इंडिया, पहली पारी में 231 रन की बढ़त
  • मुंबई टेस्टः 235 रन बनाकर आउट हुए विराट कोहली, स्कोर- 615/9
  • मुंबई टेस्ट: इंग्लैंड के खिलाफ जयंत यादव ने लगाया करियर का पहला टेस्ट शतक।...
  • मुंबई टेस्ट में भारतीय टेस्ट कप्तान विराट कोहली ने लगाया दोहरा शतक, स्कोर- 558/7
  • मुंबई टेस्टः चौथे दिन का खेल शुरू, दोहरे शतक की ओर बढ़े कोहली
  • पढ़ें शशि शेखर का ब्लॉग, हम गिरे, गिरकर उठे, उठकर चले
  • Good Morning: पार्थिव ने कैसे की धौनी की कॉपी, वीरू को FANS ने क्यों किया TROLL समेत खेल की अन्य...
  • राशिफल: मेष और धनु के लिए बढ़िया हफ्ता, कर्क और सिंह बरतें सावधानी, क्लिक कर जानिए...
  • कोहरे के कारण 111 ट्रेनें रद्द, राजधानी एक्सप्रेस भी 20 घंटे तक लेट, क्लिक कर देखें...
  • Sunday Health Tips: पेट को दें हर रोज 15 घंटे आराम, रहेंगे खतरनाक रोग दूर
  • Good Morning: जानिए कहां बाथरूम से मिला 5.7 करोड़ कैश और 32kg सोना, देश और दुनिया की बड़ी ख़बरें...
  • मौसम अलर्ट: दिल्ली, यूपी और बिहार में पारा 12 डिग्री के आसपास, जबरदस्त कोहरा,...
  • कर्नाटक में इनकम टैक्स का छापा, 5 करोड़ 70 लाख के नए नोट जब्त, 90 लाख के पुराने नोट भी...
  • यूपी: आज़म खां के बेटे और बसपा नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी के भाई को भी सपा ने दिया...
  • यूपी: शिवपाल यादव ने घोषित किए 23 विधानसभा प्रत्याशी
  • AIADMK के नेताओं ने शशिकला से पार्टी का नेतृत्व करने का आग्रह किया।

वोट काल का कोटा-न्याय

गोपाल चतुर्वेदी First Published:23-12-2012 07:05:53 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

कल एक सज्जन सरकार को जी भरकर कोस रहे थे, ‘पेंशन के पत्र का उत्तर नहीं मिलता। जब जाओ, तो कभी बाबू तो कभी अफसर गायब।’ वह खुद भी कभी सरकार में थे। उनका मानना है कि प्रशासन अब एक डूबता हुआ जहाज है। उसमें जगह-जगह भ्रष्टाचार के छेद हैं। हमने पूछा कि इस डूबते जहाज को बचाने का कोई उपाय है क्या? उन्होंने बताया, ‘नेता इसी उपक्रम में जुटे हैं, यह जो प्रमोशन में आरक्षण लाया जा रहा है, उसका उद्देश्य है कि व्यवस्था जल्दी से बदले।’

कल तक वह आरक्षण के विरोधी थे। आज पक्षधर कैसे हो गए, हमें आश्चर्य हुआ। फिर हमें खयाल आया कि सरकार में गिरगिट की सिफत है, तो कर्मचारी में भी होगी ही। कार्यरत हो या सेवानिवृत्त। उसे निष्ठा बदलते देर नहीं लगती। वह चहके, ‘अभी दलित व आदिवासियों को प्रोन्नति का कोटा मिला है, कल पिछड़ों को भी मिलेगा। सामाजिक न्याय की ऐतिहासिक प्रक्रिया में आज नहीं तो कल सैकड़ों साल पहले किए अत्याचारों के दोषियों को दंड मिलना ही चाहिए। संख्या बल का सवाल जो ठहरा!’

यह जुर्म और सजा की उनकी अवधारणा अपने पल्ले नहीं पड़ी। नश्वर संसार में सभी इंसानों में एक ही असमानता है। कुछ अल्पायु होते हैं, तो कुछ दीर्घायु। लेकिन मृत्यु का शिकार तो सबको बनना ही बनना है। फिर यह कैसा इंसाफ है कि ‘लमहों ने खता की थी, सदियों ने सजा पाई?’ वह भी अलग-अलग पीढ़ियों के अनजान लोगों ने। सैकड़ों साल पहले अपराध संता ने किए थे और उसके लिए बंता आज भला क्यों उठक-बैठक लगाए?

इतने में वह भूत सरकारी सेवक खुद ही बोला, ‘सारे के सारे सियासी दल वोट के सौदागर हैं। जिस वृक्ष पर बैठे हैं, उसी की जड़ों में पारस्परिक विद्वेष का मट्ठा डाल रहे हैं। वह भी जातिहीन समाज बनाने के नाम पर। एक न एक दिन तो उसे ढहना ही ढहना है। सियासी सामाजिक इंसाफ दरअसल सिर्फ घर भरने की जुगत है। प्रशासन का ढांचा कार्यकुशल हो या निकम्मा, उससे क्या! नौकरी में प्रारंभिक आरक्षण तो समझ में आता है, पर प्रमोशन में? यह वोट काल के कोटा-न्याय में ही मुमकिन है!

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title:
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
Rupees
क्रिकेट स्कोरबोर्ड