Image Loading
सोमवार, 27 मार्च, 2017 | 08:22 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • हिन्दुस्तान ओपिनियन: बिमटेक के डायरेक्टर हरिवंश चतुर्वेदी का विशेष लेख- पिछड़ता...
  • पंजाब: गुरदासपुर में BSF जवानों ने पहाड़ीपुर पोस्ट के पास एक पाकिस्तानी...
  • हेल्थ टिप्स: सीढ़ी चढ़ने से कम होता है हार्ट अटैक का खतरा, क्लिक कर पढ़ें
  • मौसम दिनभर: दिल्ली-एनसीआर, लखनऊ, पटना, रांची और लखनऊ में होगी तेज धूप।
  • ईपेपर हिन्दुस्तान: आज का समाचार पत्र पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।
  • आपका राशिफल: मिथुन राशि वालों के आय में वृद्धि होगी, अन्य राशियों का हाल जानने के...
  • सक्सेस मंत्र: अवसर जरूर द्वार खटखटाते हैं, बस पहचानना आना चाहिए, क्लिक कर पढ़ें
  • टॉप 10 न्यूज: कश्मीर में आतंक-PDP मंत्री के घर पर हमला, दो पुलिसकर्मी हुए घायल, अन्य...

मोदी की हैट्रिक, धूमल आउट

नई दिल्ली, विशेष संवाददाता First Published:20-12-2012 11:35:22 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

गुजरात विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने जीत की हैट्रिक बना दी है। वह लगातार तीसरी बार सत्ता की कमान संभालेंगे। हालांकि, राज्य में भाजपा की यह लगातार पांचवीं जीत है। वहीं, हिमाचल प्रदेश में प्रेम कुमार धूमल के दोबारा मुख्यमंत्री बनने के सपने धरे ही रह गए। राज्य में पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस ने बहुमत के साथ विजय का परचम लहराया है।

गुजरात में भाजपा ने उम्मीद के मुताबिक, स्पष्ट बहुमत के साथ सत्ता पर कब्जा बनाए रखा है। हालांकि, वर्ष 2007 के मुकाबले इस बार उसे दो सीटों का नुकसान हुआ है। राज्य में विकास का नारा देने वाली भाजपा को शहरी और ग्रामीण, दोनों क्षेत्रों में लोगों का समर्थन मिला है। मोदी की इस जीत से केंद्र की राजनीति में उनकी अहम भूमिका की संभावनाएं भी बढ़ गई हैं।

जीत के बाद अहमदाबाद में पार्टी कार्यकर्ताओं की जश्न रैली में मोदी ने राज्य के लोगों का तहेदिल से शुक्रिया अदा किया। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने उन्हें वोट नहीं दिया, उन्हें संतुष्ट करने के लिए वह भविष्य में कड़ी मेहनत करेंगे।

वहीं, हिमाचल प्रदेश में भाजपा सत्ता बचाने में नाकाम रही। राज्य में वर्ष 1977 के बाद से हर पांच साल बाद सरकार बदलने की परंपरा चली आ रही है। पंजाब में इस साल के शुरू में हुए विधानसभा चुनावों में अकाली-भाजपा की तर्ज पर हिमाचल में भी भाजपा इस परंपरा को तोड़ना चाहती थी, लेकिन वह नाकाम रही। प्रदेश की जनता ने इस परंपरा को कायम रखते हुए बदलाव को चुना।

कांग्रेस ने प्रदेश अध्यक्ष वीरभद्र सिंह की अगुआई में चुनाव लड़ा, ऐसे में मुख्यमंत्री पद के लिए उन्हें प्रबल दावेदार माना जा रहा है। हालांकि, इसका अंतिम फैसला होना अभी बाकी है।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title:
 
 
|
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड