Image Loading
शुक्रवार, 06 मई, 2016 | 03:25 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • आईपीएल 9: राइजिंग पुणे सुपरजाइंटस ने दिल्ली डेयरडेविल्स को सात विकेट से हराया
  • सिंहस्थ नगरी उज्जैन में आंधी-बारिश, 7 की मौत, 90 घायल, पढ़े पूरी रिपोर्ट
  • खेतान ने यूरोपीय बिचौलियों से धन लेने की बात स्वीकारी, क्लिक करें
  • आईपीएल 9: दिल्ली डेयरडेविल्स ने राइजिंग पुणे सुपरजाइंटस के सामने 163 रन का लक्ष्य...
  • आईपीएल 9: राइजिंग पुणे सुपरजाइंटस ने दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ टॉस जीता, पहले...
  • पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के छठे और अंतिम चरण में 84.24 प्रतिशत मतदान: निर्वाचन...
  • यूपी बोर्ड का हाईस्कूल व इंटरमीडिएट रिजल्ट 15 मई को आएगा।
  • अन्नाद्रमुक ने स्कूटर मोपेड खरीदने के लिए महिलाओं को 50 प्रतिशत सब्सिडी देने,...
  • अन्नाद्रमुक ने तमिलनाडु विधानसभा चुनाव के लिए अपने घोषणापत्र में सब के लिए 100...
  • तमिलनाडुः अन्नाद्रमुक ने सभी राशन कार्ड धारकों को मुफ्त मोबाइल फोन देने का...
  • मध्यप्रदेश: सिंहस्थ कुंभ में तेज बारिश और आंधी से गिरे पांडाल, 4 की मौत
  • अगस्ता वेस्टलैंड मामला: पूर्व वायुसेना प्रमुख एसपी त्यागी के तीनों करीबी...
  • सेंसेक्स 160.48 अंक की बढ़त के साथ 25,262.21 और निफ्टी 28.95 अंक चढ़कर 7,735.50 पर बंद
  • वाईस एडमिरल सुनील लांबा होंगे नौसेना के अगले प्रमुख, 31 मई को संभालेंगे पद
  • यूपी सरकार ने केंद्र सरकार से बुंदेलखंड के लिए पानी के टैंकर मांगें-टीवी...
  • स्टिंग ऑपरेशन: हरीश रावत को सीबीआई ने सोमवार को पूछताछ के लिए बुलाया: टीवी...
  • नोएडा: स्कूल बसों और ऑटो की टक्कर में इंजीनियर लड़की समेत 2 की मौत। क्लिक करें

मानकों पर खरी नहीं उतरती महिला हेल्पलाइन

First Published:20-12-2012 10:39:25 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

नई दिल्ली,पंकज रोहिला

मुसीबत में फंसी महिलाएं वक्त पड़ने पर कहां शिकायत करें यह खुद दिल्ली की महिलाएं भी नहीं जानती हैं। हालांकि दिल्ली में खासतौर पर महिलाओं के लिए विशेष हेल्पलाइन चलाई जा रही है। कोई भी महिला 1091 डॉयल कर अपनी शिकायतों का हल जान सके, इसके लिए यह हेल्पलाइन चलाई जाती है। दिल्ली सरकार द्वारा कराए गए एक सर्वे में यह सामने आया है कि दिल्ली की 50 प्रतिशत महिलाओं को हेल्पलाइन के बारे में जानकारी नहीं है।

ये सर्वे दिल्ली की करीब 200 महिलाओं पर किया गया है। देश में हाईटेक तकनीक आ जाने के बाद सभी एजेंसियां अपने-अपने कॉल सेंटर को अत्याधुनिक बना रही हैं। यही वजह है कि जब आप किसी कॉल सेंटर पर शिकायत के लिए फोन करते हैं तो उपभोक्ता को एक के बाद एक सवालों का जवाब मिलता जाता है, लेकिन जब कोई महिला हेल्पलाइन नंबर पर फोन करती है तो उसे उस तरह की मदद नहीं मिलती जिसकी आस से वह फोन करती है।

ऐसे में महिला पीड़ित होन के बाद भी खुद को असुरक्षित मानती है। दिल्ली सरकार द्वारा किए गए इस सर्वे में यह भी सामने आया है कि पुलिस की ट्रेनिंग कराई जानी चाहिए। इसके लिए पुलिस कंट्रोल रूम कक्ष में भी नगिरानी की गई है। सूत्रों ने बताया कि यह भी सामने आया है कि हिन्दी के अतिरिक्त किसी अन्य भाषा में यदि कोई पीड़ित कॉल करता है तो उसे भी दिक्कत उठानी पड़ती है। इसके अतिरिक्त पुलिस कंट्रोल रूम में कार्यरत पुलिसकर्मियों को बार-बार बदला जाता है इसलिए वे इस कार्य के लिए निपुण नहीं होते।

जांच में यह भी सामने आया है कि कंट्रोल रूम में तैनात पुलिसकर्मियों का मानना है कि उनका काम सिर्फ कॉल लेना है न की शिकायत दर्ज करना है। दिल्ली सरकार का मानना है कि इस व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए पुलिसकर्मियों को विशेष ट्रेिनग दी जानी चाहिए जिससे ये हेल्पलाइन एनजीओ संगठन की तरह अपनी सेवाएं दे सके। इसके लिए जल्द ही दिल्ली सरकार द्वारा पुलिस आयुक्त से सिफारशि की जाएगी ताकि इन खामियों को दूर किया जा सके।

आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
 
 
 
 
 
 
 
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
कोहली-तेंदुलकर के बीच तुलना अनुचित है: युवराजकोहली-तेंदुलकर के बीच तुलना अनुचित है: युवराज
अनुभवी बाएं हाथ के बल्लेबाज युवराज सिंह को लगता है कि भारत के टेस्ट कप्तान विराट कोहली इस पीढ़ी के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज हैं लेकिन उनकी तुलना सचिन तेंदुलकर से करना अनुचित है क्योंकि दिल्ली के इस क्रिकेटर को मास्टर ब्लास्टर की बराबरी करने के लिए काफी मेहनत करनी होगी।