Image Loading
शुक्रवार, 06 मई, 2016 | 14:45 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • कांग्रेस के हरीश रावत अपना बहुमत साबित करेंगे
  • केन्द्र सरकार उत्तराखंड विधानसभा में फ्लोर टेस्ट करने को तैयार: एजेंसी
  • अगस्ता घूसकांडः SC ने इतालवी कोर्ट के फैसले में नामित लोगों के खिलाफ FIR दर्ज कराने...
  • लोकतंत्र बचाओ मार्चः संसद मार्ग थाना पुलिस ने सोनिया, राहुल, मनमोहन, एंटनी और...
  • सुप्रीम कोर्ट में उत्तराखंड मामला 12बजे तक के लिये स्थगित

हवलदार की हत्या में शामिल था नीतू डाबोदा

First Published:15-12-2012 10:20:29 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

नई दिल्ली वरिष्ठ संवाददाता

कंझावला में हुई हवलदार रामकशिन की हत्या में नीतू डाबोदा व उसके साथी शामिल थे। यह खुलासा उसके एक शार्प शूटर ने अपराध शाखा के सामने किया है। पुलिस ने इस शार्प शूटर को बवाना से एक युवक को अगवा कर उसकी हत्या करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। आरोपी 24 वर्षीय संदीप उर्फ विक्की के पास से पुलिस ने एक पिस्तौल, दो मैगजीन और .32 बोर की 10 गोलियां बरामद की हैं। अपराध शाखा के पुलिस उपायुक्त एस.बी.एस त्यागी के अनुसार कंझावला गांव निवासी गैंगस्टर अजय कुमार को अगवा कर उसकी हत्या कर दी गई थी।

मामले की जांच के दौरान अपराध शाखा को पता चला कि वारदात को नीदू डाबोदा गैंग ने अंजाम दिया है। इस बीच एक गुप्त सूचना पर एसीपी होशियार सिंह की देखरेख में इंस्पेक्टर नरेश चंद्र व एसआई अरुण देव नेहरा की टीम ने इस गिरोह के सदस्य संदीप उर्फ विक्की को कंझावला से गिरफ्तार कर लिया। उसने पुलिस को बताया कि 16 नवम्बर को नीतू व प्रदीप के साथ मिलकर उसने नीरज बवाना गैंग के सदस्य अजय की हत्या की थी।

अजय उनकी बजाय नीरज बवाना गिरोह के लिए काम करता था। इसके अलावा उनके साथी पारस से भी अजय ने कहासुनी की थी। साजशि के तहत नीतू व प्रदीप अजय को अगवा कर अपने साथ तातेसर गांव के खेत में ले गए, जहां संदीप पहले से मौजूद था। आरोपियों ने उसे आठ से दस गोलियां मारी, जिससे उसकी मौत हो गई। उसके शव को करनाल ले जाकर नीतू व प्रदीप ने जला दिया था। संदीप ने पुलिस को हवलदार रामकशिन की हत्या का घटनाक्रम भी बताया।

उसने बताया कि 25 नवम्बर की रात नीतू, पारस, आलोक व काला उसके घर सफेद रंग की वर्ना कार से आए थे। उसके खेतों में आरोपियों ने जमकर शराब पी। नीतू के कहने पर उसने दो देशी पिस्तौल उन्हें दी थी। इनके अलावा नीतू के पास पहले से एक पिस्तौल थी। देर रात चारों हरियाणा जाने के लिए निकले थे। सुबह उसे पता चला कि जौंति बार्डर पर सफेद कार में सवार बदमाशों ने हवलदार की हत्या कर दी। वारदात के दो दिन बाद उसने नीतू से जब पूछा तो उसने पारस के साथ मिलकर हवलदार को मारने की जानकारी उसे दी थी।

आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
 
 
 
 
 
 
 
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
आरसीबी कप्तान कोहली पर लग सकता है एक मैच का बैनआरसीबी कप्तान कोहली पर लग सकता है एक मैच का बैन
रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर (आरसीबी) के कप्तान विराट कोहली की टीम अगर इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में अपने अगले मैच में दिए गए समय में ओवर समाप्त करने में विफल रहती है, तो कप्तान कोहली को मैच का प्रतिबंध और जुर्माना भुगतना पड़ सकता है।