Image Loading अखिलेश ने कहा, छात्राओं पर दर्ज मुकदमा वापस होगा - LiveHindustan.com
मंगलवार, 09 फरवरी, 2016 | 15:21 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • गृह राज्यमंत्री किरेन रिजिजू बाल-बाल बचे, प्लेन की इमरजेंसी लैंडिंग

अखिलेश ने कहा, छात्राओं पर दर्ज मुकदमा वापस होगा

सम्भल-रामपुर, एजेंसी First Published:11-12-2012 01:14:43 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
अखिलेश ने कहा, छात्राओं पर दर्ज मुकदमा वापस होगा

उत्तर प्रदेश की सपा सरकार की महात्वाकांक्षी हमारी बेटी उसका कल योजना में अपनी कथित उपेक्षा से आंदोलित छात्राओं के खिलाफ सम्भल पुलिस ने सोमवार देर रात मुकदमा दर्ज कर लिया गया था। हालांकि मंगलवार की सुबह ही सूबे के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने एलान किया कि छात्राओं पर दर्ज मुकदमा वापस लिया जाएगा।

सम्भल के पुलिस अधीक्षक डां. तहसीलदार सिंह ने बताया कि 40 छात्राओं समेत 190 लोगों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 147, 341, 427 और 335 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है हालांकि इसमें किसी को नामजद नहीं किया गया है लेकिन वीडियोरिकार्डिंग में जो उपद्रव करते दिखाई दे रहे हैं उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

सिंह ने बताया कि सम्भल जिला मुख्यालय की स्थापना को लेकर आन्दोलन चलाने वाले लोगों ने छात्राओं को भडकाया है। छात्राओं को भड़काकर मुख्यमंत्री के खिलाफ नारे लगवाने वालों की शिनाख्त की जा रही है। उनका कहना था कि छात्राओं को समझाने की कोशिश की गई थी लेकिन वे नहीं मानी।

रामपुर में सोमवार को हमारी बेटी उसका कल योजना के तहत मुरादाबाद मण्डल की छात्राओं को तीस-तीस हजार रुपए का चेक वितरित करने आए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का कुछ छात्राओं ने जमकर विरोध किया था और उनके खिलाफ नारेबाजी की थी।

इस बीच कांग्रेस, भारतीय जनता पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने छात्राओं के ऊपर दर्ज मुकदमें को तत्काल वापस लेने की मांग की थी। कांग्रेस विधायक अखिलेश प्रताप सिंह ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को लिखे पत्र में कहा कि सम्भल में छात्राओं पर दर्ज मुकदमें तत्काल वापस लिए जाए।

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने कहा कि छात्राओं पर मुकदमा दर्ज करने वालों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए क्योंकि हमारी बेटी उसका कल योजना में लाभान्वित होने वाली छात्राओं को अंधकार में रखा गया और उन्हें सही स्थिति से अवगत नहीं कराया गया। जिसके कारण छात्राएं आन्दोलित हुई।

आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
 
 
 
|
 
 
जरूर पढ़ें
कैसा रहा साल 2015
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड