Image Loading
बुधवार, 25 मई, 2016 | 05:01 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • आईपीएल पहला क्वालीफायरः आरसीबी ने गुजरात लायंस को चार विकेट से हराया
  • आईपीएल पहला क्वालीफायरः आरसीबी को 15 गेंदों पर जीतने के लिए चाहिए 15 रन
  • आईपीएल पहला क्वालीफायरः आरसीबी ने 15 ओवर में छह विकेट खोकर 110 रन बनाए
  • आईपीएल पहला क्वालीफायरः आरसीबी ने 11 ओवर में छह विकेट खोकर 81 रन बनाए
  • आईपीएल पहला क्वालीफायरः आरसीबी का पांचवां विकेट 29 रन के स्कोर पर गिरा
  • आईपीएल पहला क्वालीफायरः आरसीबी का चौथा विकेट गिरा, स्कोर 28/4 (4.5 ओवर)
  • आईपीएल पहला क्वालीफायरः गुजरात लायंस ने लगातार गेंदों पर आरसीबी को दो झटके दिए
  • आईपीएल पहला क्वालीफायरः आरसीबी ने 3 ओवर में एक विकेट खोकर 25 रन बनाए
  • आईपीएल पहला क्वालीफायरः गुजरात लायंस ने 20 ओवर में 158 रन बनाए
  • आईपीएल पहला क्वालीफायरः गुजरात लायंस ने 15 ओवर में चार विकेट पर 104 रन बनाए
  • देखें VIDEO: सलमान और अनुष्का की फिल्म 'सुलतान' का ट्रेलर जारी
  • आईपीएल पहला क्वालीफायरः गुजरात लायंस ने 10 ओवर में तीन विकेट पर 58 रन बनाए
  • आईपीएल पहला क्वालीफायरः गुजरात लायंस के दो विकेट सिर्फ 6 रन पर गिरे
  • केंद्र एक्ट ईस्ट नीति के तहत असम और पूर्वोत्तर के अन्य राज्यों को उनके त्वरित...
  • शपथ ग्रहण समारोह: देश का आदिवासी समाज सर्बानंद पर गर्व करता है-पीएम मोदी
  • असम में बीजेपी के 6 और असम गण परिषद के 2 और बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट के 2 मंत्रियों ने...
  • सात राज्य नीट के लिए तैयार, दिल्ली की अभी सहमति नही: जे पी नड्डा
  • सर्बानंद सोनोवाल ने असम के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली
  • असम में सर्बानंद सोनोवाल का शपथ ग्रहण समारोह: पीएम मोदी भी पहुंचे
  • असम के मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण समारोह में अमित शाह समेत कई बड़े नेता पहुंचे
  • नजफगढ़ में विमान दुर्घटनाग्रस्त नहीं हुआ, विमान की इमरजेंसी लैंडिंग कराई गई
  • लखनऊ, चंडीगढ़, फरीदाबाद, अगरतला समेत 13 नए शहर स्मार्ट सिटी के लिए चुने गए
  • राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने NEET अध्यादेश पर किए हस्ताक्षर
  • इसी सप्ताह आएगा 10वीं का परीक्षा परिणामः सीबीएसई
  • शेयर बाजार: सेंसेक्स 10 अंक फिसलकर 25,220 पर खुला, निफ़्टी 7731
  • दिल्ली: खराब मौसम के कारण करीब 24 उड़ानें डाइवर्ट हुईं और 12 देर से पहुंचीं
  • बिहार- एमएलसी मनोरमा देवी की जमानत याचिका पर सुनवाई, कोर्ट ने मांगी केस डायरी

कब सीखेंगे हमारे देश के अभिभावक

जयंती रंगनाथन, सीनियर फीचर एडीटर, हिन्दुस्तान First Published:09-12-2012 10:51:10 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

बचपन और स्कूली दिनों को याद करें, तो किस बात पर आज सबसे अधिक तंज होता है? बाल मनोचिकित्सक अनिल जॉर्ज की मानें, तो अपने अभिभावकों और शिक्षकों के हाथों प्रताड़ित होने का गम जिंदगी भर सालता है। हमारे देश में लालन-पालन के गूढ़ार्थ में छिपी है बच्चों की पिटाई। बिना डांटे-पीटे बच्चों को अनुशासित करने की कला भारतीय अभिभावकों को जरा कम ही आती है। नई पीढ़ी के कुछ माता-पिता जरूर बच्चों को डांटने-डपटने और मारने से बचते हैं। पर बाल कल्याण आयोग और स्वयंसेवी संस्थाओं की मानें, तो आज भी हमारे देश में दस साल की उम्र से कम के लगभग 72 प्रतिशत बच्चे बदमाशी, पढ़ाई और खाने से लेकर तमाम दूसरी बातों के लिए कड़ी सजा पाते हैं।

ऐसे में खबर आती है नॉर्वे से, डेढ़ साल के अंतराल में दोबारा भारतीय अभिभावक अपने बच्चों के साथ बदसलूकी की वजह से कठघरे में खड़े कर दिए गए। पहली दंपती कोलकता से थी, इस बार आंध्र प्रदेश से है। पिता चंद्रशेखर और मां अनुपमा इंजीनियर हैं। पहली दंपती का बेटा ऑटिस्टिक था। इस बार सात साल के बेटे साई श्रीराम ने स्कूल में अपने शिक्षकों से कह दिया कि उसके अभिभावक उसे डराते-धमकाते हैं। वह बिस्तर गीला करता है, तो उसे भारत वापस भेजने की धमकी देते हैं। साई श्रीराम की देह पर कुछ जले के निशानों ने माता-पिता को दो साल के लिए जेल की सलाखों के पीछे ही पहुंचा दिया। माता-पिता का तर्क था कि बेटा कहानी बनाने में होशियार है। खेल-खेल में लगे चोट का वितंडा बनाया जा रहा है। हम यह अन्याय कैसे कर सकते हैं?

उनकी गुहार कोई सुनने को तैयार नहीं। भारतीय अभिभावक बेशक नौकरी के लिए बाल-बच्चों सहित विदेश पहुंच जाते हैं, पर उनका आचरण शत-प्रतिशत देसी ही रहता है। अमेरिकी लेखिका और शिक्षिका जूलिया वॉल ने कुछ समय पहले अपने ब्लॉग में हमारे देश के अभिभावकों के बारे में लिखा था- ‘मेरी कक्षा में कई भारतीय मूल के बच्चे पढ़ते हैं। मुझे उन्हें देखकर तरस आता है। मैंने पैरेंट-टीचर मीटिंग के दौरान इनमें से कई को अपने बच्चों से गुस्से में बात करते देखा है। कम नंबर आने पर वे अपने बच्चों की तौहीन करते हैं। वे हमारी तरह बच्चों का लालन-पालन क्यों नहीं करते? यह कमी मुझे चाइनीज माता-पिता में नजर नहीं आती।’

बच्चों की परवरिश को लेकर हम बहुत कम बदले हैं। वैसे शिक्षक भी बच्चों के साथ अमानवीय बर्ताव करने में पीछे नहीं हैं। देश भर में बच्चों को सजा देने के नाम पर कभी उनके कपड़े उतरवाए जाते हैं, तो कभी मूत्र पीने को बाध्य किया जाता है। मारपीट तो आम बात है। नॉर्वे सहित दूसरे कई देश बच्चों को लेकर अति संवदेनशील हैं। वे बच्चों को राष्ट्रीय धरोहर मानते हैं और उनके साथ किसी किस्म की प्रताड़ना बर्दाश्त नहीं करते। वहां जाने वालों को इसके लिए अच्छी तरह खुद को तैयार करना होगा।

 

 
 
 
 
|
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
Jharkhand Board Result 2016
Assembely Election Result 2016
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
आईपीएल 9: डिविलियर्स ने आरसीबी को फाइनल में पहुंचायाआईपीएल 9: डिविलियर्स ने आरसीबी को फाइनल में पहुंचाया
शीर्ष क्रम के धुरंधरों की नाकामी से एक समय बैकफुट पर पहुंचे रायल चैलेंजर्स बेंगलूर ने गुजरात लायन्स को चार विकेट से हराकर आईपीएल नौ के फाइनल में प्रवेश किया।