Image Loading
शुक्रवार, 06 मई, 2016 | 22:19 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • आईपीएल 9: गुजरात लायंस ने हैदराबाद सनराइजर्स के सामने 127 रन का लक्ष्य रखा
  • आईपीएल 9: हैदराबाद सनराइजर्स ने गुजरात लायंस के खिलाफ टॉस जीता, पहले करेंगे...
  • PM मोदी पर बोले अरुण शौरी, लोगों को इस्तेमाल कर छोड़ देते हैं मोदी
  • पाकिस्तान क्रिकेट टीम के मुख्य कोच बने दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कोच मिकी अर्थर
  • अगस्ता मामला: स्वामी ने राज्यसभा में दिए दस्तावेज, राज्यसभा जल्द जारी करेगी...
  • कांग्रेस के आरोपों पर बीजेपी का सवाल- भ्रष्टाचार पर कार्रवाई राष्ट्रविरोधी...
  • आईसीएसई दसवीं और आईएससी 12वीं के नतीजे घोषित
  • कांग्रेस के हरीश रावत अपना बहुमत साबित करेंगे
  • केन्द्र सरकार उत्तराखंड विधानसभा में फ्लोर टेस्ट करने को तैयार: एजेंसी
  • अगस्ता घूसकांडः SC ने इतालवी कोर्ट के फैसले में नामित लोगों के खिलाफ FIR दर्ज कराने...
  • लोकतंत्र बचाओ मार्चः संसद मार्ग थाना पुलिस ने सोनिया, राहुल, मनमोहन, एंटनी और...
  • सुप्रीम कोर्ट में उत्तराखंड मामला 12बजे तक के लिये स्थगित

आंसुओं की अजब कहानी..

हिन्दुस्तान रीमिक्स First Published:04-12-2012 01:01:57 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

तुम्हें जब कोई बात बहुत बुरी लगती है तो तुम्हारी आंखों से आंसू निकल आते हैं। कई बार तो बिना रोए भी तुम्हारी आंखों से पानी निकल जाता है। तुम्हें समझ में नहीं आता होगा कि आखिर आंखों से पानी कैसे निकलता है। कोई बात नहीं, आज हम तुम्हें बता रहे हैं कि आंसू निकलने के क्या कारण होते हैं...

रोने के अलावा भी कई कारण होते हैं, जिससे आंखों से पानी बह निकलता है। ऐसा कुछ भी जिससे आंखों को परेशानी महसूस होती है, आंख उसे धोने की कोशिश करती है और इसी कोशिश में आंखों से पानी निकलता है। चाहे धूल के कण आंख में चले जाते हों या पलक में, आंसू बह निकलते हैं। हम हमेशा उस चीज को नहीं देख पाते हैं, जो हमारी आंखों में घुस जाती है। धुआं होने पर आंखों से पानी इसलिए निकलने लगता है, क्योंकि धुएं में छिपे धूल के कणों से आंखें खुद को बचाना चाहती हैं।

अगर तुम कटी प्याज के इर्द-गिर्द होते हो तो तुम्हारी आंखों से आंसू निकलने लगते हैं। ऐसा इसलिए, क्योंकि प्याज के पानी में छिपे केमिकल्स (रसायन) आंखों को कष्ट पहुंचाते हैं। तुमने गौर किया होगा कि ठंडी या तेज हवा भी आंखों में पानी ले आती है। आंखों को रूखेपन से बचाने के लिए टीयर ग्लैंड्स से आसू निकल जाते हैं। किसी चीज से एलर्जी की वजह से भी आंखों से पानी निकलने लगता है। ऐसे में ठंड से संक्रमण भी हो सकता है।

आंखों से आंसू निकलने का मतलब यह होता है कि आंख खुद को बाहरी चीजों से सुरक्षित रखना चाहती है। वह खुद में नमी लाकर ऐसा करती है और इसके लिए आंख में पानी आना जरूरी होता है। आंसू टीयर ग्लैंड्स से निकलते हैं, जिन्हें लैक्रिमल ग्लैंड्स कहते हैं। यह हमारी ऊपरी आईलिड पर होते हैं। हमारी आंखों से कुछ आंसू टीयर डक्ट्स से निकलते हैं, जिन्हें लैक्रिमल डक्ट्स भी कहते हैं। हमारी आंखों और नाक के बीच छोटे टय़ूब्स (नलियां) होते हैं, इन्हें ही डक्ट्स कहते हैं। जब हमारे आंसू आंखों में भर जाते हैं तो इन टीयर डक्ट्स के रास्ते निकल जाते हैं। हमारे पास दो टीयर डक्ट्स होते हैं, दोनों आंखों के अंदर कोने में। यदि तुम अपनी आंख के नीचे की आईलिड को नीचे की ओर खींचोगे तो तुम्हें यह छेद दिख जाएगा।

जब तुम बहुत ज्यादा रो रहे होते हो तो डक्ट्स इन सबको एक साथ निकाल पाने में सक्षम नहीं होता। तभी आंसू हमारे चेहरे पर आ जाते हैं। क्या तुमने कभी गौर किया है कि रोते हुए कभी-कभी तुम्हारी नाक से पानी निकल आता है? ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि डक्ट्स से जब आंसू नहीं निकल पाते हैं तो नाक में आ जाता है। कुछ लोगों को यह समस्या होती है कि उनके आंसू नहीं निकल पाते हैं। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि उनके टीयर ग्लैंड्स आंसू का निर्माण नहीं कर पाते हैं। इसे ही ‘ड्राई आईज’ कहते हैं। कुछ दवाओं या बीमारी के कारण ऐसा होता है। कुछ लोगों के टीयर डक्ट ब्लॉक (अवरुद्ध) होते हैं, उनके आंसू भी नहीं निकल पाते हैं। कुछ बच्चों का जन्म ब्लॉक्ड लैक्रिमल डक्ट्स के साथ होता है। कुछ के डक्ट्स तो बाद में खुल जाते हैं तो कुछ का छोटा ऑपरेशन करना पड़ता है।

आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
 
 
 
 
 
|
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
आईपीएल 9: सनराइजर्स ने लायंस को 126 रन पर रोकाआईपीएल 9: सनराइजर्स ने लायंस को 126 रन पर रोका
मुस्तफिजुर रहमान और भुवनेश्वर कुमार के दमदार प्रदर्शन से सनराइजर्स हैदराबाद ने इंडियन प्रीमियर लीग मैच में आज यहां गुजरात लायंस को छह विकेट पर 126 रन के स्कोर पर रोक दिया।